जिन्होंने मोदी को बनारस से जिताया, उन पर गुजरात में हमले

अहमदाबाद/नई दिल्ली. गुजरात के साबरकांठा में 14 महीने की बच्ची से दुष्कर्म के आरोप में बिहार के युवक की गिरफ्तारी के बाद गैर-गुजरातियों पर हमले हो रहे हैं। इस मुद्दे पर राजनीति भी तेज हो गई है। बसपा प्रमुख मायावती ने मंगलवार को कहा कि यह दुख की बात है कि जिन लोगों ने मोदीजी को बनारस में वोट देकर जिताया, उन्हीं लोगों पर गुजरात में हमले हो रहे हैं। वहीं, जिस संगठन क्षत्रिय ठाकोर सेना पर हिंसा भड़काने के आरोप लग रहे हैं, उसके प्रमुख और कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकोर का कहना है कि लोग त्योहारों और छठ पूजा नजदीक होने के कारण घर जा रहे हैं, गुजरात में किसी पर हमला नहीं हो रहा।

अब तक 50 हजार का पलायन
गुजरात में गैर-गुजरातियों पर जारी हिंसा के मामलों में अब तक लगभग 450 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। 56 एफआईआर दर्ज की गईं हैं। उत्तर भारतीय विकास परिषद का दावा है कि गुजरात से पलायन करने वालों की संख्या 50 हजार है। गुजरात के नौ जिलों में गैर-गुजरातियों पर हमले हो रहे हैं। इनमें सारबकांठा, महेसाणा, अहमदाबाद शहर, अहमदाबाद ग्रामीण, अरावली, सुरेंद्रनगर, गांधीनगर और आणंद शामिल है।

अमूल प्लांट के श्रमिकों पर हमला

आणंद के वघासी में अमूल प्लांट के गैर-गुजराती श्रमिकों पर सोमवार को हमले हुए। इसमें सात लोग जख्मी हो गए। बाइक सवार हमलावरों ने श्रमिकों को राज्य छोड़ने की धमकी दी। इस मामले में क्षत्रिय ठाकोर सेना से जुड़े नौ लोगों को हिरासत में लिया गया।

अल्पेश ने कहा- पहले दिन से कर रहा हूं शांति की अपील

गुजरात के कांग्रेस विधायक और बिहार कांग्रेस के प्रभारी अल्पेश ठाकोर के संगठन क्षत्रिय ठाकोर सेना पर हिंसा फैलाने के आरोप लग रहे हैं। अल्पेश का कहना है कि आरोपों से मुझे दुख हो रहा है क्योंकि मैं पहले दिन से शांति की अपील कर रहा हूं। ठाकोर ने मंगलवार को मीडिया से कहा कि एक बच्ची से दुष्कर्म हुआ है। दुष्कर्मी सिर्फ दुष्कर्मी है। उसका किसी प्रांत से लेना देना नहीं है। हिंसा में हम शामिल नहीं हैं। हमारी विचारधारा राष्ट्रवादी और मानवतावादी है। कभी मुझ पर कोई केस नहीं हुआ। लोग छठ के कारण घर लौट रहे हैं।

उधर, राहुल गांधी ने ट्वीट कर गुजरात में हिंसा के लिए भाजपा सरकार को जिम्मेदार ठहराया।

ग़रीबी से बड़ी कोई दहशत नहीं है| गुजरात में हो रहे हिंसा की जड़ वहाँ के बंद पड़े कारख़ाने और बेरोज़गारी है|

व्यवस्था और अर्थव्यवस्था दोनो चरमरा रही है|

प्रवासी श्रमिकों को इसका निशाना बनाना पूर्णत ग़लत है| मैं पूरी तरह से इसके ख़िलाफ़ खड़ा रहूँगा|
नीतीश ने की थी रूपाणी से बात : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को गुजरात के मुख्यमंत्री जय रूपाणी से बात की थी। इसके बाद उन्होंने लोगों से अपील की थी कि एक राज्य के लोग दूसरे राज्य के लोगों के बारे में गलत विचार नहीं रखें। वहीं, गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा था कि गैर-गुजरातियों से हमारी अपील है कि गुजरात ना छोड़ें। उनकी सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। हम पर विश्वास करें।

बिहार के मजदूर पर बच्ची से दुष्कर्म का आरोप : साबरकांठा के हिम्मतनगर इलाके में 28 सितंबर को बच्ची से रेप किया गया था। पीड़ित ठाकोर समुदाय से है। इस मामले में बिहार के एक मजदूर रवींद्र साहू को गिरफ्तार किया गया। वह यहां की एक फैक्ट्री में काम करता था।