भर्ती परीक्षाओं की सेंधमारी रोकने के लिए प्लान

UPSSSC: उत्तर प्रदेश में सरकारी नौकरियों की भर्ती परीक्षाओं में होने वाली सेंधमारी रोकने के लिए ठोस योजना बनाने का काम शुरू हो गया है। उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के अध्यक्ष सीबी पालीवाल को इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसके लिए काफी हद तक ‘फुलप्रूफ प्लान’ का मसौदा तैयार कर लिया गया है। अन्य आयोग और बोर्ड के सचिवों से राय-मशविरे के बाद इसे अंतिम रूप देते हुए मुख्य सचिव डॉ. अनूप चंद्र पांडेय को रिपोर्ट सौंपी जाएगी।

सरकार सख्ती से धांधली रोकेगी
राज्य सरकार भर्ती परीक्षाओं में होने वाली धांधली सख्ती के साथ रोकना चाहती है। उत्तर प्रदेश में भर्ती परीक्षाओं में पार्च आउट कराने से लेकर कापी बदलवाने तक का लंबा खेल चलता है। राज्य सरकार इसी खेल को समाप्त करने के लिए योजना तैयार करा रही है। पिछले दिनों नलकूप चालक से लेकर सिपाही भर्ती परीक्षा में धांधली की शिकायत के बाद इसे स्थगित कर दिया गया। मुख्य सचिव ने इसके बाद आयोग और बोर्ड के अध्यक्षों और सचिवों की बैठक बुलाई। इसमें भर्ती परीक्षाओं में होने वाली धांधली रोकने पर गंभीर विचार-विमर्श हुआ। इसके बाद कमेटी बनाने का फैसला हुआ।

कमेटी की पहली बैठक चार अक्तूबर को
उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के अध्यक्ष सीबी पालीवाल की अध्यक्षता में कमेटी बनाई गई है। इसमें सभी आयोगों व भर्ती बोर्ड के सचिव बतौर सदस्य रखे गए हैं। कमेटी की पहली बैठक 4 अक्तूबर को होगी। सूत्रों का कहना है कि कमेटी के अध्यक्ष ने काफी हद तक भर्ती परीक्षाओं में होने वाली धांधली रोकने का प्लान तैयार कर लिया है। कमेटी की पहली बैठक में इन बिंदुओं पर चर्चा की जाएगी और इस पर उनसे सुझाव लिया जाएगा। इसके बाद ही इसे अंतिम रूप देते हुए मुख्य सचिव को दिया जाएगा।