ऑस्ट्रेलिया के साथ निराशाजनक टी-20 सीरीज के बाद भारत ने पहले दो वनडे जीत कर शानदार शुरुआत ……….

ऑस्ट्रेलिया के साथ निराशाजनक टी-20 सीरीज के बाद भारत ने पहले दो वनडे जीत कर शानदार शुरुआत की है। अब भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीसरा मैच शुक्रवार (8 मार्च) को रांची के जेएससीए इंटरनेशनल स्टेडियम कॉम्प्लेक्स में खेला जाएगा। रांची का यह स्टेडियम महेंद्र सिंह धौनी का होम ग्राउंड है। ऐसे में फैन्स के बीच यहां धौनी को लेकर काफी रोमांच है। टीम इंडिया के रांची पहुंचते ही जोश-खरोश के साथ उनका स्वागत किया गया।
रांची के ‘राजकुमार’ महेंद्र सिंह धौनी जैसे ही पहुंचे फैन्स ने उनका जमकर स्वागत किया और’धौनी-धौनी’ के नारे लगाए। बुधवार रात को धौनी के रांची स्थित फॉर्म हाउस में टीम इंडिया के लिए डिनर का इंतजाम भी किया गया। यहां भी खिलाड़ियों और स्टाफ ने जमकर मस्ती की। अब मस्ती के बाद टीम इंडिया तीसरा वनडे जीतकर 5 मैचों की इस वनडे सीरीज में अपनी बढ़त बनाना चाहेगी।
महेंद्र सिंह धौनी किस नंबर पर करें बल्लेबाजी? सुरेश रैना की है ये राय
टीम इंडिया के लिए बेशक शिखर धवन और अंबाती रायडू की फॉर्म चिंता का कारण होगी, क्योंकि विश्व कप (ICC World Cup 2019) में तीन महीने से भी कम का समय रह गया है। ऐसे में देखते हैं कि रांची में खेले जाने वाले तीसरे वनडे (Ranchi ODI) के लिए कैसी हो सकती है भारत की संभावित प्लेइंग इलेवन:

रोहित शर्मा: दूसरे वनडे में शून्य पर आउट होने वाले ‘हिटमैन’ रोहित शर्मा पिछली 8 पारियों में केवल एक अर्द्धशतक बना पाए हैं। 4 बार वह ईकाई के स्कोर पर आउट हुए। हालांकि, वनडे में पिछले कुछ सालों से उनकी परफॉर्मेंस शानदार रही है।
शिखर धवनः दूसरी तरफ टीम इंडिया के ‘गब्बर’ शिखर धवन की फॉर्म चिंता की बात है। यूएई में शानदार एशिया कप (376 रन) के बाद की 5 पारियों में उनका स्कोर 28, 13, 6, 0 और 21 रहा है। लेकिन धवन का इंग्लैंड में रिकॉर्ड शानदार है। उम्मीद करनी चाहिए कि दिल्ली का यह बल्लेबाज जल्दी अपनी फॉर्म हासिल कर लेगा।
विराट कोहली: तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी कर रहे विराट कोहली को यदि नीचे लाया जाता है तो केएल राहुल तीसरे और कोहली चौथे नंबर पर बल्लेबाजी कर सकते हैं। लेकिन इस बदलाव की संभावना बहुत कम है। कोहली इस पोजिशन पर रन बना रहे हैं। टीम इंडिया के कप्तान कोहली ने नागपुर में अपना 40वां वनडे शतक बनाया है।
विजय शंकर: विजय शंकर नंबर 4 पर बल्लेबाजी करेंगे। न्यूजीलैंड के खिलाफ फाइनल मैच में 90 रन की पारी खेलने के बाद से अंबाती रायडू नंबर 4 पर पहले दो मैचों में असफल साबित हुए हैं। वहीं, विजय शंकर ने प्रभावित किया है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नागपुर वनडे में विजय शंकर ने पहले बल्लेबाजी और फिर गेंदबाजी से दिल जीता।
कप्तान विराट कोहली चाहेंगे कि विजय इसी तरह अच्छी फॉर्म जारी रखें।
ऋषभ पंत: टीम इंडिया के युवा विकेटकीपर-बल्लेबाज को रांची वनडे में शामिल किया जा सकता है। अंबाती रायडू के फ्लॉप होने के बाद प्लेइंग इलेवन में पंत का आजमाया जा सकता है। ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड वनडे सीरीज में बाहर रहने के बाद वह भी वापसी करना चाहते हैं, ताकि विश्व कप में उनकी जगह सुनिश्चित हो सके।

महेंद्र सिंह धौनी: टीम इंडिया के सबसे अनुभवी खिलाड़ी महेंद्र सिंह धौनी वनडे क्रिकेट में जबरदस्त फॉर्म में चल रह हैं। 37 वर्षीय धौनी ने 100.33 की औसत से 301 रन बनाए हैं। उनका स्ट्राइक रेट 80.05 है। हैदराबाद में धौनी की शानदार पारी विश्व कप 2019 के लिए अच्छा संकेत है। बल्लेबाजी के साथ ही विकेटों के पीछे और टीम को सपोर्ट करने में भी उनका योगदान शानदार रहा है।
शिखर धवन के बल्ले से क्यों नहीं निकल रहे रन? एक्सपर्ट्स ने बताई वजह
केदार जाधव: टीम इंडिया के ऑलराउंडर खिलाड़ी केदार जाधव का परफॉर्मेंस भी टीम के लिए काफी अच्छा रहा है। जाधव सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करेंगे। हैमस्ट्रिंग इंजरी के बाद से जाधव ने टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई है। वह निचले क्रम के सबसे सशक्त बल्लेबाज हैं। उन्होंने गेंदबाजी में भी अपनी वर्थ साबित की है। जाधव की टीम में उपस्थित भारत को एक अतिरिक्त बल्लेबाज देती है।
रवींद्र जडेजा: हार्दिक पांड्या की चोट ने रवींद्र जडेजा के लिए रास्ता बना दिया। मिडिल ओवरों में उन्होंने अच्छी गेंदबाजी की है। पहले मैच में उन्होंने केवल 33 और दूसरे में 48 रन दिए। वह शानदार फील्डर तो हैं ही। ऐसे में रांची में उनका खेलना भी तय माना जा रहा है।
भुवनेश्वर कुमार: भुवनेश्वर कुमार की तीसरे वनडे में वापस तय माना जा रहा है। उन्हें पहले दो वनडे में रेस्ट दिया गया था। वह मोहम्मद शमी की जगह टीम में आ सकते हैं। शमी बहुत ज्यादा क्रिकेट खेल रहे हैं। उन्हें एक ब्रेक की जरूरत है।
कुलदीप यादव: टीम इंडिया के स्टार स्पिनर और ‘चाइनामैन’ गेंदबाज कुलदीप यादव पिछले कुछ समय से टीम का एक अहम हिस्सा बन चुके हैं। 24 वर्षीय कुलदीप 41 वनडे में 82 विकेट ले चुके हैं। अब तक वनडे सीरीज में वह 5 विकेट ले चुके हैं। ऑस्ट्रेलिया के मध्यक्रम के बल्लेबाज उन्हें सहजता से नहीं खेल पा रहे हैं।
जसप्रीत बुमराह: टीम इंडिया के डेथ ओवरों के स्पेशलिस्ट जसप्रीत बुमराह ने भी ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाजों को खासा परेशान किया है। वह लगातार अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं। विश्व कप में उनकी एक बड़ी भूमिका होगी। ऐसे में उनका खेलना भी तय है।