सस्ता सोना खरीदने का अच्छा मौका, त्योहारों में 20 साल में पहली बार हुआ ऐसा

त्योहारों के पहले वाहन और टीवी-फ्रिज जैसे उत्पाद महंगे होने से जहां मायूसी है, वहीं आपको सस्ता सोना या आभूषण खरीदने का मौका मिल सकता है। दरअसल, पीली धातु की कीमतों में छह माह से गिरावट आ रही है। वैश्विक स्तर पर गिरावट के साथ भारत में भी सोना पकड़ खो रहा है।
विशेषज्ञों के अनुसार, डॉलर में लगातार मजबूती से सोने की कीमत में लगातार छह हफ्तों से गिरावट है।

वहीं मासिक आधार पर यह लगातार छह माह से नुकसान पर है और जनवरी 1997 के बाद पिछले 20 सालों में यह गिरावट का सबसे लंबा दौर है। हाजिर सोने की कीमत अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शुक्रवार को 1182.48 प्रति औंस (28.34 प्रति ग्राम)रही। यह 17 अगस्त के 1180.34 प्रति औंस के दाम से न्यूनतम स्तर पर है। गुरुवार को इसकी कीमत 1181.61 प्रति औंस रही थी।

डॉलर की मजबूती से पीली धातु कमजोर

विशेषज्ञों का कहना है कि अमेरिकी अर्थव्यवस्था में मजबूती को देखते हुए उनके केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व ने ब्याज दरों में पिछले एक साल में तीसरी बार बढ़ोतरी की है और आगे भी इसमें वृद्धि के संकेत दिए हैं। ऐसे में अमेरिकी शेयर बाजार में निवेशकों की दिलचस्पी बढ़ी है और अंतरराष्ट्रीय और घरेलू स्तर पर सोना कमजोर हो रहा है। चीन-अमेरिका व्यापार युद्ध से भी डॉलर मजबूत हो रहा है और सोने पर दबाव है।