अमिताभ बच्चन ने की पीएसपी डिसऑर्डर से जूझ रहे कादर खान के लिए दुआ, ट्विटर पर लिखा संदेश

बॉलीवुड डेस्क.  कॉमेडियन और एक्टर रहे कादर खान क्रिटिकल कंडीशन में हॉस्पिटलाइज हैं। उन्हें BiPAP वेंटीलेटर पर रखा गया है। कादर खान की हालत के बारे में जानकर अमिताभ बच्चन ने ट्विटर पर उनके लिए दुआओं भरी एक पोस्ट की। गौरतलब है कि अमिताभ और कादर खान ने दो और दो पांच, मुकद्दर का सिकंदर, मिस्टर नटवरलाल, सुहाग, कुली, शहंशाह जैसी फिल्मों में साथ काम किया है। 

अमिताभ ने लिखा :  अपनी पोस्ट में बिग बी ने लिखा है- कादर खान… अपार प्रतिभा के धनी एक्टर और राइटर। बीमार हैं और हॉस्पिटल में हैं। उनकी अच्छी सेहत और उसमें जल्दी सुधार के लिए प्रार्थना और दुआ करता हूं। उन्हें मंच पर प्रदर्शन करते देखा, मेरी फिल्मों के लिए उन्होंने शानदार राइटिंग की। बहुत अच्छे दोस्त हैं और कईयों को पता नहीं है, गणित भी पढ़ाया। 

कादर खान का हेल्थ अपडेट: कादर को प्रोग्रेसिव सुप्रान्यूक्लीयर पाल्सी डिसऑर्डर हो गया है। जिसके कारण दिमाग से संचालित होने वाली गतिविधियां भी प्रभावित हो गई हैं। एंटरटेनमेंट वेबसाइट स्पॉटबॉय की खबर के अनुसार यह जानकारी कादर खान के बेटे सरफराज खान ने दी है। 

लम्बे समय से कनाडा में हैं कादर : कादर खान पिछले कई सालों से कनाडा में ही अपने बेटे-बहू सरफराज और शाइस्ता के साथ रह रहे हैं। सरफराज के अनुसार डॉक्टरों की एक टीम लगातार उनकी हेल्थ पर नजर रखे हुए थी, लेकिन सांस लेने में हो रही दिक्कत के कारण उन्हें बाइपेप वेंटीलेटर पर रखा गया है।

क्या है पीएसपी : प्रोग्रेसिव सुप्रान्यूक्लीयर पाल्सी (पीएसपी) एक असामान्य मस्तिष्क विकार है जो शरीर की गति, चलने के दौरान बनने वाले संतुलन, बोलने, निगलने, देखने, मनोदशा और व्यवहार के साथ सोच को प्रभावित करता है। यह डिसऑर्डर मस्तिष्क में नर्व सेल्स के नष्ट होने के कारण होता है

ऐसी है कादर खान की हालत : खबर के अनुसार कभी वे होश में रहते हैं देखते हैं, लेकिन हर पल नहीं। कादर साहब ने भी बात करना बंद कर दिया है। उनमें निमोनिया के लक्षण भी दिखाई दे रहे हैं। कादर साब के बेटे सरफराज और उनकी बहू ने इलाज में कोई कसर नहीं छोड़ी है लेकिन कादर साब की सेहत अभी भी नाजुक बनी हुई है।

पिछले साल हुई थी सर्जरी : कादर के बेटे ने 2017 में उनके घुटने की सर्जरी के बारे में भी बताया था। वे ज्यादा देर तक चलने में डरते थे, उन्हें लगता था कि वे गिर जाएंगे। इसके बाद से लगातार उनके स्वास्थ्य में गिरावट आती जा रही है।