दरअसल, गोरखपुर के रेलवे स्टेशन पर मौजूद रैन बसेरे में जब योगी आदित्यनाथ निरीक्षण करने पहुंचे तो…

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार को अपने शहर गोरखपुर में थे. यहां उन्होंने कई योजनाओं का उद्घाटन किया, परियोजनाओं का जायजा लिया और इसी के साथ ही रैन बसेरों का दौरा भी किया. गोरखपुर रेलवे स्टेशन के पास मौजूद रैन बसेरों में जब मुख्यमंत्री अचानक दौरा करने पहुंचे तो वहां मौजूद शख्स ने कुछ ऐसा कह दिया जिससे योगी आदित्यनाथ असहज दिखे और युवक को आश्वासन देकर आगे बढ़ गए. इस दौरान वहां मीडिया, अधिकारियों का जमावड़ा लगा हुआ था.

दरअसल, गोरखपुर के रेलवे स्टेशन पर मौजूद रैन बसेरे में जब योगी आदित्यनाथ निरीक्षण करने पहुंचे तो वहां रेलवे भर्ती के लिए आए हुए युवक ने उन्हें शिकायत की. युवक ने मुख्यमंत्री से कहा, ‘’ यहां वेरिफिकेशन हो रहा था, लेकिन आपके यहां पर आने की वजह से कुछ अफसर एबसेंट रहे. आपके आने से प्रॉब्लम बढ़ गई है सर’’.

युवक के अचानक इस प्रकार के बयान से वहां मौजूद हर व्यक्ति चौंक गया, जवाब में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, ‘’ चलिए, ठीक है. घबराइए मत’’.

दरअसल, योगी आदित्यनाथ रैन बसेरे में अचानक ही निरीक्षण करने पहुंच गए थे. वहां लापरवाही को देखकर उन्होंने अधिकारियों को जमकर फटकार भी लगाई. जब योगी वहां मौजूद लॉकर को देख रहे थे तो उसमें चाबी ना देख भड़क गए. उन्होंने कहा कि अगर यहां रहने वाले किसी व्यक्ति को अपना सामान रखना हो तो वह तो रख ही नहीं पाएगा. योगी के इन सवालों का अधिकारियों के पास कोई जवाब ना था.

गौरतलब है कि तीन राज्यों में चुनाव के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रचार के लिए अक्सर राज्य से बाहर रहे और उन्हें राजकाज के लिए फुर्सत नहीं मिली. विरोधियों ने भी उनपर आरोप लगाया कि करीब 20 दिन प्रदेश से बाहर ही रहे.

बता दें कि हाल के दिनों में योगी आदित्यनाथ की लोकप्रियता का ग्राफ नीचे आया है और एनडीए के सहयोगी भी उनसे नाराज हैं. माना जा रहा है कि योगी जनता और सियासी सहयोगियों की नजर में अपनी छवि बेहतर बनाने के प्रयास में हैं.