मोदी-शाह के विजय रथ की रफ्तार थमी…

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की जुगल जोड़ी ने 2014 के बाद से पार्टी को अब तक 15 राज्यों की सत्ता पर कब्जा किया है। लेकिन उत्तर भारत के प्रमुख तीन राज्यों छत्तीसगढ़, राजस्थान और मध्य प्रदेश के विधानसभा चुनाव में मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के बेहतर प्रदर्शन ने मोदी-शाह के विजय रथ पर ब्रेक लगा दिया है।

राजनीतिक जानकारों का कहना है कि कमजोर होती कांग्रेस, नरेंद्र मोदी की साफ छवि और अमित शाह के बूथ प्रबंधन के कारण भाजपा 2014 से लगातार राज्यों में सत्ता पर काबिज होती जा रही थी। इसमें भाजपा ने 2018 में त्रिपुरा में वामदलों का 25 साल पुराना किला ध्वस्त कर अपनी सरकार बनाई। मोदी व अमित शाह प्रभाव से मणिपुर में भाजपा ने पहली बार सरकार बनाई।

MP ELECTION: कांग्रेस से कांटे की टक्कर में BJP के लिए चुनौती बने बागी

असम में एक दशक से जमी कांग्रेस को भाजपा ने सत्ता से बाहर करते हुए अपना कब्जा जमाया। अरुणाचल प्रदेश, नगालैंड में भाजपा ने गठबंधन सरकार बनाई। जबकि मेघालय में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी होने के बावजूद सरकार बनाने से चूक गई और भाजपा ने राजनीतिक चतुराई दिखाते हुए अपनी सरकार बनाई। कमोबेश गोवा में सबसे बड़ा दल होने के बावजूद कांग्रेस की बजाए भाजपा की सरकार बनी।

2017 में उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी का जादू चला और भाजपा की सरकार बनी। महाराष्ट्र में भी भाजपा शिवसेना के साथ सरकार चला रही है। मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद भी गुजरात में भाजपा अपनी सत्ता बचाए रखने में कामयाब रही। जिन अन्य राज्यों में जीत हुई उनमें हरियाणा, हिमाचल, उत्तराखंड, झारखंड भी शामिल हैं। बिहार में बाद में जदयू के साथ गठबंधन सरकार बनाना भी एक उपलब्धि रही। भाजपा ने जम्मू-कश्मीर व आंध्र प्रदेश में गठबंधन सरकारें बनाई लेकिन वह अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर सकीं। अब देखने वाली बात यह है कि ताजा विधानसभा चुनाव में भाजपा के खराब प्रदर्शन के बाद मोदी-शाह की जोड़ी का करिश्मा 2019 तक कायम रहेगा अथवा नहीं।

मध्यप्रदेश चुनाव: सपा-बसपा का साथ तय करेगा सत्ता का रुख, जोड़-तोड शुरू

2014 के बाद ऐसे बदले सियासी समीकरण

भाजपा गठबंधन ने 15 चुनाव जीते

2014- महाराष्ट्र, हरियाणा,

2015- बिहार (बिहार में भाजपा हारी पर बाद में जदयू संग सकार में शामिल)

2016- असम में दस साल बाद कांग्रेस को हराया

2017- उत्तराखंड, यूपी, गुजरात, गोवा, हिमाचल, मणिपुर

2018- त्रिपुरा, मेघालय, नगालैंड, अरुणाचल प्रदेश झारखंड,

विधानसभा चुनाव 2018 परिणाम: तीन राज्यों में ‘आप’ को नोटा से भी कम वोट

यहां गठबंधन बदला

-आंध्र में भाजपा का टीडीपी से गठबंधन टूटा

-जम्मू-कश्मीर में पीडीपी से गठबंधन टूटा

-बिहार में भाजपा ने हार के बाद नीतीश के संग सरकार बनाई

-2014 के बाद भाजपा गठबंधन की पंजाब में हार

अब 15 राज्यों में सरकार

यूपी, उत्तराखंड, हरियाणा, हिमाचल, गुजरात, त्रिपुरा, असम, मणिपुर, मेघालय, महाराष्ट्र, झारखंड, गोवा, अरुणाचल प्रदेश, बिहार, नगालैंड

यहां कांग्रेस गठबंधन ने सरकार गंवाई

मेघालय, असम, उत्तराखंड, मणिपुर, हिमाचल

नोट: दिल्ली में 2013 व 2014 में कांग्रेस हारी

2018- मिजोरम

2014 के बाद पंजाब, पुड्डुचेरी और कर्नाटक में जीत

6 राज्यों में सरकार

पंजाब, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, पुड्डुचेरी, राजस्थान, मध्यप्रदेश