शेयर बाजार धड़ाम, सेंसेक्स 500 अंक से ज्यादा गिरा चुनावी नतीजों से पहले…

देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव की मतगणना के प्रारंभिक रूझान में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को लग रहे झटके और रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल के इस्तीफे से मंगलवार को घरेलू शेयर बाजार खुलते ही लाल निशान में चले गये। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 375.59 अंक की भारी गिरावट के साथ 34,584.13 अंक पर खुला और कारोबार के शुरूआती पहर में ही 531.39 अंक यानी 1.52 फीसदी का तेज गोता लगाता हुआ 34,428.83 अंक पर आ गया। एनएसई का निफ्टी भी 138.40 अंक की गिरावट के साथ 10,350.05 अंक पर खुला और कारोबार के शुरूआती पहर में 1.39 फीसदी यानी 145.95 अंक लुढ़ककर 10,342.50 अंक पर आ गया।

देश की आजादी के बाद इस्तीफा देने वाले पांचवें RBI गवर्नर बने उर्जित पटेल

इससे पहले शेयर बाजार सोमवार को भारी बिकवाली दबाव में रहे तथा सेंसेक्स 714 अंक टूट गया। पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के एक्जिट पोल (मतदान बाद सर्वेक्षण) में सत्ताधारी भाजपा को कांग्रेस से कड़ी चुनौती मिलने की संभावना और प्रमुख एशियायी सूचकांकों में गिरावट को देखते हुए निवेशकों ने घबराहटपूर्ण बिकवाली की। रुपये की कमजोरी तथा कमजोर वैश्विक रुख से यहां धारणा और खराब हुई। बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 713.53 अंक या करीब दो प्रतिशत टूटकर 35,000 अंक से नीचे 34,959.72 अंक पर आ गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 205.25 अंक या 1.92 प्रतिशत के नुकसान से 10,488.45 अंक पर आ गया।

रिजर्व बैंक के गर्वनर उर्जित पटेल ने दिया इस्तीफा

मतदान बाद सर्वे में कांग्रेस को राजस्थान में सरकार बनाते दिखाया गया है। वहीं मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में दोनों दलों के बीच कड़ा मुकाबला बताया गया है। इससे घरेलू बाजार प्रभावित हुआ। अंतरबैंक विदेशी विनिमय बाजार में कारोबार के दौरान रुपया टूटकर 71.44 प्रति डॉलर के निचले स्तर पर आ गया। इससे भी कारोबारी धारणा प्रभावित हुई। बीएसई और एनएसई पर रीयल्टी, बैंकिंग, धातु, फार्मा और वित्तीय कंपनियों सहित सभी वर्गों के शेयर नुकसान में रहे।