राहुल अमेठी में नरम हिन्दुत्व को और धार देते दिखे कैलाश यात्रा के बाद

बम-बम भोले के उद्घोष के बीच भगवान शिव की पूजा अर्चना। माथे पर चन्दन और हाथ में कलावा। राहुल गांधी को ‘शिवभक्त’ बताती चारों ओर लगी बड़ी-बड़ी होर्डिंग्स। भगवाधारी कांवड़ियों की भारी भीड़ फुरसतगंज नहरकोटी (अमेठी) के माहौल को किसी धार्मिक पर्व सरीखा बनाती हुई।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कैलाश मानसरोवर की यात्रा से लौटने के बाद सोमवार को जब अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी पहुंचे तो उनका स्वागत कुछ इस अंदाज में हुआ। कुल मिलाकर राहुल गांधी अपने संसदीय क्षेत्र में नरम हिन्दुत्व के एजेण्डे को और धार देते हुए दिखे।

राफेल डील पर रार: सीवीसी से मिले कांग्रेस नेता, कहा- दर्ज करें मामला
गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रचार के दौरान बड़ी संख्या में मंदिरों में पूजा अर्चना की थी। जिसको लेकर वह भारतीय जनता पार्टी के निशाने पर भी रहे। लेकिन आलोचनाओं से इतर खुद कांग्रेस अध्यक्ष तब से लगातार नरम हिन्दुत्व के एजेण्डे को आगे बढ़ा रहे हैं। कर्नाटक विधानसभा के चुनाव के दौरान हवा में राहुल गांधी का विमान दुर्घटनाग्रस्त होते -होते बचा था इसके बाद राहुल गांधी ने कैलाश मानसरोवर जाने की घोषणा की थी। वह खुद कई बार पहले भी बता चुके हैं कि वो शिवभक्त हैं। माना जा रहा है कि कैलाश मानसरोवर यात्रा ने उनकी शिवभक्त इमेज को मजबूत किया है।
कैलाश मानसरोवर से लौटने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष की सभाओं का सीन बदला सा है। प्रमुख मंदिरों और मठों में दर्शन के लिए वह पहले से ही जा रहे थे अब उनकी सभाओं में कुछ खास नारों की गूंज सुनाई दे रही है-‘बोल बम..बम-बम’ और ‘हर-हर महादेव’। होर्डिंग्स और पोस्टरों में उनकी ‘शिवभक्ति’ को उभारा जा रहा है। सूत्रों के अनुसार यह सब पार्टी की खास रणनीति का हिस्सा है। पार्टी की मंशा भाजपा को उसी के अस्त्र से घेरने की है।
अमेठी में राहुल गांधी बोले -हिंसा का डटकर विरोध करें महिलाएं
सूत्रों के अनुसार 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार की समीक्षा के लिए बनी पार्टी ने जो एंटनी कमिटी बनायी थी उसने भी पार्टी की ‘प्रो-मुस्लिम’ या ‘हिन्दू विरोधी’ छवि को हार की बड़ी वजह बताया था। संभवत: पार्टी की यह सारी कोशिश इसी धारणा को बदलने की है। राहुल गांधी की हालिया मध्य प्रदेश की यात्रा के दौरान भी उनका स्वागत ‘शिवभक्त राहुल’ के तौर पर जोर-शोर से हुआ। अगले मध्य प्रदेश दौरे के दौरान उनके चित्रकूट जाने की भी खबर है।
सियासी विश्लेषकों से इतर कांग्रेस नेता अमेठी में आज राहुल गांधी के ‘शिवभक्त’ के रूप में हुए स्वागत को सामान्य स्वागत बताते हुए कहते हैं कि पूर्वांचल में घर के किसी व्यक्ति के किसी तीर्थ से लौटने पर उसका विशेष स्वागत किये जाने की परंपरा रही है। अलबत्ता अमेठीवासियों ने अपने सांसद के स्वागत का इस तरह का नजारा संभवत: पहली बार देखा।