अयोध्या : विश्व हिन्दू परिषद ने कहा- छीनी गई जमीन पर नमाज नहीं स्वीकार

विश्व हिन्दू परिषद ने अयोध्या में धर्म सभा का आयोजन किया। जहां पर 1992 के कार सेवा के बाद पहला ऐसा मौका था जब इतनी बड़ी तादाद में राम भक्त एकजुट हुए। वीएचपी का दावा था कि यहां पर लाखों की संख्या में लोग आएंगे।

राम भक्तों का जमावड़ा ऐसे वक्त पर हुआ है जब 16वीं सदी का ढांचा ढहाए जाने की 26वीं बरसी को दो हफ्ते से भी कम का वक्त बचा है। जिसके चलते रामनगरी अयोध्या और देश के अन्य हिस्से में हिंसा भड़क उठी थी। इससे पहले, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर केन्द्र पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि चुनाव के लिए राम नाम का इस्तेमाल न हो। उद्धव ने कहा कि चुनाव के समय राम नाम लिया जाता है और उसके बाद वे सो जाते हैं।