LIVE: PM का करारा वार, मोदी पर हमले नाकाम तो मोदी की मां को गाली दे रहे कांग्रेस के लोग

मध्य प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में प्रचार के लिए सभी राजनीतिक दल एड़ी चोटी का जोर लगा रहे हैं. पीएम मोदी इस समय छतरपुर में जनसभा को संबोधित कर रहे हैं.

जनसभा में पीएम ने कहा कि मध्य प्रदेश का विकास करना राजा महाराजाओं के बस की बात नहीं है. ये काम सिर्फ शिवराज और बीजेपी सरकार कर सकती. छतरपुर में पानी की समस्या को दूर करने का काम शिवराज सरकार ने करके दिखाया है, जबकि कुछ लोगों ने यहां के तालाबों पर कब्जे कर रखे थे.

पीएम ने सोनिया गांधी पर निशाना साधते हुए पीएम ने कहा कि हमारी सरकार कोई रिमोर्ट कंट्रोल वाली सरकार नहीं है. ये सवा करोड़ लोगों की सरकार है. मैडम की तरह घर में बैठकर रिमोट्र कंट्रोल से नहीं चल रही है.

मोदी ने कहा कि मैडम ने देश के खजाने के लुटा दिया था. उन्होंने देश के पैसे को उद्योगपतियों को दे दिया था. हमने मुद्रा योजना के जरिए युवाओं को बिना गारंटी के लोन देने का काम किया. इससे नवजवानों को रोजगार मिला है. सोने के चम्मच लेकर पैदा होने वाले  राजा महाराजा कन्फ्यूज है.

मोदी ने कहा कि कांग्रेस सरकार चार पीढ़ी का हिसाब देने के तैयार नहीं है और न ही इसकी चर्चा करने को तैयार है. चाय वाले की चार साल की सरकार पर चर्चा से भाग रही है. इनके पास कोई मुद्दा नहीं है. मोदी पर हमला करने से बजाय मोदी की मां को गाली दे रहे हैं. मोदी की मां को बदनाम कर रहे हैं. जिस मां को राजनीति के बारे में कुछ नहीं पता, उस मां को राजनीति में घसीटकर लाए. कांग्रेस के लोग मोदी से मुकाबला करने की आप में हिम्मत नहीं है.

मोदी ने कहा कि इसी तरह जनता का शिवराज को मामा कहना उन्हें रास नहीं आता. वह कंस मामा को याद करते हैं तो अपने मामा एंडरसन और क्वात्रोची को याद क्यों नहीं करते? एक के साथ मिलकर बोफोर्स कांड कर दिया और दूसरे भोपाल गैस कांड के आरोपी एंडरसन को स्पेशल प्लेन से देश से बाहर भेज दिया.

पीएम ने कहा कि मामा शिवराज को गाली दे रहे हो, इसका जवाब यहां के भांजा और भांजियां देगी. उन्होंने कहा कि मामा शिवराज के बजाय अगर अच्छा होता कि मामा एंडरसन और मामा कायत्रोची को भी याद कर लेते. भोपाल गैस कांड के आरोपी मामा एंडरसन को भगाने का काम राजा के पिता की सरकार ने किया था.

मोदी ने कहा कि यहां पर चुनाव लड़ने वाले लोग भी इस तरह के शब्दों का इस्तेमाल नहीं करते. मध्य प्रदेश की जनता को ऐसा हिसाब देना चाहिए कि मोदी की मां को गाली देने वाले की जमानत नहीं बचने देना.

राज बब्बर ने मोदी के मां को निशाना बनाया था

गौरतलब है कि कि कांग्रेस के यूपी प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने इंदौर में गुरुवार को चुनावी रैली के दौरान पीएम को मनहूस बताते हुए उनकी मां का भी मजाक उड़ाया था. बब्बर ने कहा था कि वह (मोदी जी) अपने भाषणों में अक्सर कहते थे कि डॉलर के मुकाबले रुपया इतना गिर गया है कि उसकी उम्र प्रधानमंत्री (तत्कालीन पीएम मनमोहन सिंह) के करीब जा रहा है. प्रधानंत्री महोदय, आपने तो इज्जत से नाम नहीं लिया था लेकिन हम कहना चाहेंगे कि अब रुपया आपकी पूज्यनीय माता जी की उम्र (करीब 97 साल) के करीब पहुंच गया है.

उन्होंने कहा कि बीजेपी विकास के मंत्र को लेकर चल रही है और भ्रष्टाचार की बिमारी को मिटाने को लेकर हम चल रहे हैं. ऐसे में हमें ऐसी राज्य में आप बीजेपी की सरकार दीजिए और प्रदेश को साफ करने का काम हम करेंगे और पाई-पाई का हिसाब देंगे.

हम गरीबों के लिए बेहतर इलाज के लिए मुफ्त में आयुष्मान लाए हैं. गंभीर बिमारी के लिए मंहगे से मंहगे इलाज के लिए आयुष्मान है. इस देश के गरीब को ताकत देने के लिए हम काम करे रहे हैं.

राज्य के किसान आंदोलन की वजह से राजनीतिक केंद्र बने मंदसौर में शनिवार को पीएम नरेंद्र मोदी चुनावी रैली को संबोधित करेंगे.

एमपी की सियासी जंग में बीजेपी को लगातार चौथी बार जीत दिलाने के लिए नरेंद्र मोदी एक के बाद एक दौरा करके माहौल बनाने में जुटे हैं. इस कड़ी में शनिवार को वो मंदसौर और छतरपुर में जनसभा को संबोधित करेंगे.

पीएम मंदसौर के जरिए किसानों को संदेश देने की कोशिश करेंगे कि उनकी सरकार और पार्टी किसान विरोधी नहीं हैं.

प्रधानमंत्री बनने के बाद पीएम पहली बार मंदसौर में रैली करने जा रहे हैं, जबकि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान यहां रैलियां कर चुके हैं. कांग्रेस ने पीएम के मंदसौर रैली पर सवाल उठाते हुए पूछा है कि जब किसानों पर गोली चली थी, उस वक्त पीएम कहां थे. ऐसे में अब वो मंदसौर किस हक से वोट मांगने आ रहे हैं.

पीएम मोदी मंदसौर में बीजेपी उम्मीदवार यशपाल सिसौदिया के समर्थन में चुनावी जनसभा को संबोधित करेंगे. वो दोपहर तीन बजे कॉलेज ग्राउंड पहुंचेगे और चुनावी रैली को संबोधित करेंगे. पीएम मंदसौर में करीब एक घंटे रहेंगे और 40 मिनट भाषण देने का कार्यक्रम है.