31 को आएगी कांग्रेस की पहली सूची, भाजपा के मंत्रियों और बड़े नेताओं को घेरने कांग्रेस का ‘प्लान 30’

भोपाल। दो दिनी प्रदेश के दौरे पर आए राहुल गांधी के वापस दिल्ली पहुंचने के बाद 31 अक्टूबर की देर रात तक कांग्रेस उम्मीदवारों के नाम घोषित कर दिए जाएंगे। इस बात का संकेत प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ दे चुके हैं। बताया जा रहा है कि प्रदेश की 230 विधानसभा क्षेत्रों में से 200 पर प्रत्याशियों के नाम तय कर लिए गए हैं। ऐसी भी संभावना है कि प्रदेश भाजपा के मंत्रियों और बड़े नेताओं को घेरने के लिए पार्टी 30 नाम भाजपा की सूची जारी होने के बाद घोषित करे।

कांग्रेस की रणनीति इस बार चुनाव में भाजपा के बड़े नेताओं को उन्हीं के विधानसभा क्षेत्र में घेरने की है। इसलिए 30 नाम भाजपा की सूची जारी होने के बाद घोषित किए जा सकते हैं। पार्टी प्रदेश के बड़े नेताओं और पूर्व और वर्तमान सांसदों को भी मैदान में उतार सकती है।

इन क्षेत्रों पर फोकस: कांग्रेस ने जो चुनावी रणनीति बनाई है उसके अनुसार पार्टी का सबसे ज्यादा फोकस मालवा, ग्वालियर-चंबल संभाग, विंध्य और महाकौशल पर ज्यादा फोकस रखने की है। एससी-एसटी एक्ट का सबसे ज्यादा विरोध भी इन्हीं क्षेत्रों में देखा गया था। पार्टी सूत्रों का कहना है कि प्रदेश में 15 साल से सत्ता पर काबिज भाजपा के लिए चुनाव नतीजे चौंकाने वाले रहेंगे।

हर कदम फूंक-फूंककर: कांग्रेस ने टिकट बंटबारे के लिए जो गाइडलाइन बनाई गई है उसमें दागदार, आपराधिक पृष्ठभूमि या बाहुबली दावेदारों को टिकट नहीं दिया जाएगा। मौजूदा विधायकों में भी सिर्फ उन्हीं विधायकों को टिकट मिलने की उम्मीद है जिनकी छवि अच्छी होगी। कांग्रेस ने जो सर्वे कराए हैं उनमें टिकट के संभावित दावेदारों की छवि को लेकर बारीकी से जांच कराई गई है। पिछला चुनाव कम अंतर से जीते प्रत्याशियों को पार्टी एक बार फिर से मौका देगी। जिन सीट पर पार्टी 20 हजार या उससे अधिक वोटों से जीती है उन प्रत्याशियों को दोबारा टिकट दी जा सकती है।

स्क्रीनिंग कमेटी का काम पूरा: कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि पार्टी मौजूदा 46 विधायकों में से कुछ का टिकट काट सकती है। इसके अलावा 2013 के विधानसभा चुनाव में 3 हजार से कम वोटों से हारने वाले उम्मीदवारों को दोबारा मौका देने के लिए उनके नामों पर सहमति बनी है। दिल्ली में तीन चली स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में सीटों के लिए तैयार किए गए पैनल में नाम तय करने का काम पूरा कर लिया गया है।