Google में Me Too: 2 साल में 13 सीनियर अफसरों समेत 48 कर्मचारी निकाले गए

यौन उत्पीड़न के आरोप में गूगल ने 2 साल के अंदर 48 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया. इनमें से 13 कंपनी के सीनियर अफसर थे. इनमें से किसी को एक्जिट पैकेज नहीं दिया गया. यह बात गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने कही है. उन्होंने अपने कर्मचारियों को भेजे ई मेल में बताया है कि यौन उत्पीड़न के मामलों में कंपनी सख्त एक्शन लेगी.

 एंड्रायड के जनक एंडी रूबिन मामले में उठे थे सवाल

न्यू यॉर्क टाइम्स में छपी एक खबर में आरोप लगाया गया था कि एंड्रायड के जनक एंडी रूबिन को 90 करोड़ डॉलर का एक्जिट पैकेज देकर विदा किया गया जबकि उन पर यौन उत्पीड़न का आरोप लग चुका था. वहीं यौन उत्पीड़न के आरोप में निकाले गए दूसरे लोगों को एक्जिट पैकेज नहीं दिया गया. पिचाई ने इसका जवाब देते हुए कहा है कि एंडी रूबिन पर जारी की गई रिपोर्ट को समझना कठिन है. लेकिन गूगल के वर्कप्लेस पर बेहतर माहौल बनाने का प्रयास जारी रहेगा. ऐसे मामलों में गूगल लगातार बड़े एक्शन ले रहा है.

जिन पर आरोप लगे उन्हें नहीं दिया एक्जिट पैकेज

पिचाई ने सैन फ्रांसिस्को में दावा किया कि जिन लोगों को यौन उत्पीड़न के आरोप में निकाला गया उनमें से किसी को भी एक्जिट पैकेज नहीं दिया गया है. किसी एक और छोटी से छोटी शिकायत पर भी गूगल एक्शन लेने के लिए प्रतिबद्द है.  न्यू यॉर्क टाइम्स में छपी रिपोर्ट में आरोप लगाया गया था कि यौन उत्पीड़न के आरोप में गूगल ने अपने 3 बड़े अधिकारियों को निकाल दिया. इनमें एंडी रूबिन का नाम लिखा गया था जबकि 2 के नाम नहीं बताए गए थे. तब के कार्यकारी अधिकारी लैरी पेज को कंपनी ने मेल कर जानकारी दी थी कि यौन उत्पीड़न के आरोप में एंडी रूबिन को निकाला गया. एक महिला ने आरोप लगाया था रूबिन ने 2103 में उन्हें होटल के कमरे में बुलाया था.

कौन है एंडी रूबिन

एंडी रूबिन को एंड्रायड का जनक माना जाता है. 85 फीसदी स्मार्ट फोन में यह ऑपरेटिंग सिस्टम होता है. रूबिन ने 2014 में कंपनी छोड़ दी थी. रूबिन के प्रवक्ता ने यौन उत्पीड़न के आरोप को खारिज कर दिया था. उन्होंने बताया था रूबिन ने अपने मन से कंपनी छोड़ी थी.

न्यू यॉर्क टाइम्स  में छपी एक खबर में आरोप लगाया गया था कि एंड्रायड के जनक एंडी रूबिन को 90 करोड़ डॉलर का एक्जिट पैकेज देकर विदा किया गया जबकि उन पर यौन उत्पीड़न का आरोप लग चुका था. वहीं यौन उत्पीड़न के आरोप में निकाले गए दूसरे लोगों को एक्जिट पैकेज नहीं दिया गया. पिचाई ने इसका जवाब देते हुए कहा है कि एंडी रूबिन पर जारी की गई रिपोर्ट को समझना कठिन है. लेकिन गूगल के कार्यस्थल पर बेहतर माहौल बनाने का प्रयास जारी रहेगा. ऐसे मामलों में गूगल लगातार बड़े एक्शन ले रहा है.

जिन पर आरोप लगे उन्हें नहीं दिया एक्जिट पैकेज

पिचाई ने सैन फ्रांसिस्को में दावा किया कि जिन लोगों को यौन उत्पीड़न के आरोप में निकाला गया उनमें से किसी को भी एक्जिट पैकेज नहीं दिया गया है. किसी एक और छोटी से छोटी शिकायत पर भी गूगल एक्शन लेने के लिए प्रतिबद्ध है.  न्यू यॉर्क टाइम्स में छपी रिपोर्ट में आरोप लगाया गया था कि यौन उत्पीड़न के आरोप में गूगल ने अपने 3 बड़े अफसरों को निकाल दिया. इनमें एंडी रूबिन का नाम लिखा गया था जबकि 2 के नाम नहीं बताए गए थे. तब के कार्यकारी अधिकारी लैरी पेज को कंपनी ने मेल कर जानकारी दी थी कि यौन उत्पीड़न के आरोप में एंडी रूबिन को निकाला गया. एक महिला ने आरोप लगाया था रूबिन ने 2103 में उन्हें होटल के कमरे में बुलाया था.

कौन है एंडी रूबिन

एंडी रूबिन को एंड्रायड का जनक माना जाता है. 85 फीसदी स्मार्ट फोन में यह ऑपरेटिंग सिस्टम होता है. रूबिन ने 2014 में कंपनी छोड़ दी थी. रूबिन के प्रवक्ता ने यौन उत्पीड़न के आरोप को खारिज कर दिया था. उन्होंने बताया था रूबिन ने अपने मन से कंपनी छोड़ी थी. उन्हें वेंचर कैपिटल फर्म और टेक्नॉलजी इन्क्यूबेटर