अब Paytm के साथ खोलें FD: 8% ब्याज, बिना चार्ज कभी भी निकालें पैसे

मौजूदा समय में जहां ज्यादातर बैंक फिक्स्ड डिपोजिट्स पर 6 से 7 फीसदी के बीच ब्याज दे रहे हैं. वहीं, पेटीएम पेमेंट्स बैंक आपको एफडी पर 8 फीसदी ब्याज दे रहा है. वो भी कभी भी बिना किसी चार्ज के विद्ड्रॉ करने की सुविधा के साथ.

इससे पहले की आपको इस फ‍िक्स डिपोजिट के बारे में बताएं. उससे पहले यह जान लेना जरूरी है कि पेटीएम एक पेमेंट्स बैंक है. इसलिए नियमों के मुताबिक यह एफडी की सेवा मुहैया नहीं कर सकता है. इस नियम को ध्यान में रखते हुए पेटीएम ने इंडसइंड बैंक के साथ करार किया है. पेटीएम की तरफ से आध‍िकारिक वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक पेटीएम पेमेंट्स बैंक आपकी तरफ से इंडसइंड बैंक के साथ एफडी खोलता है.

FD की अवध‍ि: 
पेटीएम के मुताबिक 13 महीने की खातिर इसके जरिये फ‍िक्स ड‍िपोजिट खोली जाती है. इस पर आपको मैच्योरिटी पर 8 फीसदी ब्याज मिलेगा. अगर आप र‍िन्यू करना चाहें, तो वह भी आप मैच्योरिटी के वक्त कर सकते हैं.

जब चाहें तब निकालें: 
ज्यादातर एफडी को जब आप तोड़ते हैं, तो आप से प्रीमैच्योर व‍िद्ड्रॉअल के लिए चार्ज भी वसूला जाता है. लेक‍िन इस एफडी के मामले में ऐसा नहीं है. अगर आप इस एफडी को मैच्योरिटी से पहले रिडीम करते हैं, तो आप से कोई चार्ज नहीं लिया जाएगा. हालांकि अगर आप 7 दिन से भी कम दिन में इसे तोड़ते हैं, तो तब आपको कोई ब्याज नहीं मिलेगा.

पेटीएम ने कहा है कि वह जब भी इंडसइंड बैंक के साथ आपकी खातिर एफडी बुक करेगा, तो जिस भी श्रेणी में ज्यादा ब्याज मिल रहा होगा, उसी में इसे रजिस्टर किया जाएगा. फिलहाल इंडसइंड बैंक की तरफ से 8 फीसदी सबसे ज्यादा ब्याज दिया जा रहा है. इसलिए एफडी इस ब्याज दर पर खोली जा रही है.

कैसे खोलें: 
पेटीएम के मुताबिक अगर आपका पेटीएम पेमेंट्स बैंक में बैलेंस 1 लाख रुपये से ज्यादा जाता है, तो पेटीएम एक लाख के अलावा जितनी भी रकम है, उसे एफडी में बदल देगा. हालांकि आप स्वेच्छा से इस एफडी को खोलना चाहते हैं, तो फिलहाल इसका विकल्प पेटीएम ऐप पर नहीं दिया गया है.

यहां करें पता: 
पेटीएम के जरिये इंडसइंड बैंक के साथ फिक्स ड‍िपोजिट की खातिर आपको अपने पेटीएम ऐप पर जाना होगा. यहां आपको बैंक वाला ऑप्शन चुनना होगा. इस पर क्ल‍िक करने के बाद पासबुक में जाएंगे, तो यहां पर आपको फिक्स्ड डिपोजिट का विकल्प मिल जाएगा. जिसमें अगर आपकी फिक्स डिपोजिट होगी, तो वह दिख जाएगी.