#MeToo, ये सरप्राइज जैसा, तनुश्री ने कहा- किसी तैयारी से शुरू नहीं किया

पिछले दिनों “हॉर्न ओके प्लीज” के सेट पर 10 साल पुराने उत्पीड़न के मामले को लेकर तनुश्री दत्ता ने बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता नाना पाटेकर पर गंभीर आरोप लगाए थे. उन्होंने कहा कि सीन के नाम पर उनके साथ इंटीमेट होने की कोशिश की गई. उनपर राजनीतिक कार्यकर्ताओं की भीड़ से हमला करवाया गया. इन आरोपों के बाद पहली बार एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता ने किसी टीवी चैनल पर #MeToo को लेकर सबसे लंबी बातचीत की.

#.10 साल पहले सवाल उठाया तो खामियाजा भुगता

तनुश्री ने फिर दोहराया, “10 साल पहले अपने सबसे अच्छे दौर में मैंने बोलने की हिम्मत दिखाई थी. मेरा उत्पीड़न हुआ. मैंने सभी दरवाजे खटखटाए. लेकिन तब किसी ने मेरी मदद नहीं की. मैंने शिकायत भी की थी. पर कुछ भी नहीं हुआ. मैंने इसका खामियाजा भी भुगता.”

#. मैंने कोई तैयारी नहीं की थी

10 साल बाद भारत में ऐसा क्या बदला जो आपने इसे अभियान बना दिया? सवाल के जवाब में तनुश्री ने कहा, “मीटू मूवमेंट वेस्ट में शुरू हुआ. मैंने मीटू किसी तैयारी से शुरू नहीं किया था. ये एक सरप्राइज जैसा था.” एक्ट्रेस ने कहा, “जब लगे कि अब बोल सकते हैं, वही बोलने का सही समय है.”

#. मैंने सवाल उठाए, मेरा करियर प्रभावित हुआ

उन्होंने कहा, 10 साल पहले इस विवाद की वजह से उन्हें काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा. उनके करियर में भी परेशानी आई. तनुश्री ने मनसे का नाम लेकर डराने की बात भी कही. एक्ट्रेस ने मनसे के उन आरोपों को खारिज किया कि यह बिग बॉस में जाने या लोकप्रियता बटोरने के लिए किया गया था.

#. सपोर्ट के लिए लोगों का शुक्रिया 

मीटू पर लोगों के सपोर्ट को लेकर तनुश्री ने माना, “10 साल पहले अगर मुझे आज जैसा सपोर्ट मिला होता तो शायद मैं उस वक्त पीछे नहीं होती. ठीक है. देर आए दुरुस्त आए.”
#. अपने मामले में न्याय को लेकर क्या सोचती हैं तनुश्री

एक सवाल के जवाब में तनुश्री ने कहा, “मुझे न्याय की अपेक्षा है. लेकिन मैंने अभी इसे फिगर आउट नहीं किया है. देश की न्याय व्यवस्था में कुछ दिक्कतें हैं. कई बार केस में समय लगता है. रेप और तमाम मामलों में देरी होती है. ये तो उत्पीड़न का ही मामला है. मैं संघर्ष करूंगी. मुझे नहीं मालूम कि आगे क्या होगा. कैसे न्याय मिलेगा.”

#. बॉलीवुड में करियर शुरू करने को लेकर क्या कहा

बॉलीवुड में वापसी के सवाल पर तनुश्री ने कहा, “मैं काफी समय से बॉलीवुड से बाहर हूं. काफी समय हो गया. मुझे नहीं लगता कि मैं बॉलीवुड में दोबारा करियर शुरू करने को लेकर मैं उत्साहित हूं.”

बताने की जरूरत नहीं कि नाना पर तनुश्री के आरोपों के बाद भारत में #MeToo एक अभियान का रूप ले चुका है. आलोकनाथ, सुभाष घई, विकास बहल, अनु मालिक, कैलाश खेर जैसे कई दिग्गज चेहरे सवालों के घेरे में हैं. नरेंद्र मोदी कैबिनेट में पूर्व केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर को अपना पद गंवाना पड़ा. उन पर कई महिलाओं ने पद का दुरूपयोग कर यौन उत्पीड़न के संगीन आरोप लगाए थे. बताने की जरूरत नहीं कि तनुश्री दत्ता इस वक्त भारत में “मीटू” की अगुवा बन चुकी हैं.