पवार: राजनीति में पैर जमीन पर रहने चाहिए, मेरे पास PM बनने के लिए नंबर ही नहीं है !

एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने कहा कि 2019 में परिवर्तन होने जा रहा है. पीएम बनने के सवाल पर उन्होंने कहा कि नंबर के बगैर प्रधानमंत्री बनने का सपना नहीं देखना चाहिए. राजनीति में पैर जमीन पर रहने चाहिए. पीएम बनने के लिए हमारे पास नंबर नहीं है.

पवार ने कहा, विपक्ष दलों के नेताओं से निश्चित हमारे संबंध अच्छे हैं. इन सभी दलों को एक साथ एक मंच पर लाने की हमारी कोशिश रहेगी. उन्होंने कहा कि 2019 में हर राज्य में अलग-अलग स्तर से गठबंधन होगा. इसके बाद सभी दल तय करेंगे. उन्होंने कहा कि हम ज्यादा सीटों पर लड़ने वाले नहीं है. महाराष्ट्री की आधी सीटों पर और कुछ दो चार सीटें दूसरे राज्यों में. ऐसे में जब हमारे पास नंबर ही नहीं हैं तो फिर हम ऐसे सपने नहीं देखते हैं.

उन्होंने कहा कि राजनीति में पैर हमारे पास जमीन पर होने चाहिए तभी आप 50 साल राजनीति करते हैं. हवा में मेरे पैर नहीं हैं. उन्होंने कहा कि देवगौड़ा और गुजराल को पीएम बनाने में हमारी भूमिका है.

पीएम के सवाल पर उन्होंने कहा कि 2004 में मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री बनेंगे, ये कौन कह सकता था. ठीक उसी तरह फिर कोई भी बन सकता है. किसी का नाम नहीं लिया जा सकता.

पवार ने कहा कि 2019 में केंद्र और राज्य में होने वाले चुनाव में कौन चुनाव जीतेगा, इस सवाल पर पवार ने कहा कि आज जिनके हाथ में हुकूमत है, अगले साल वे सत्ता में नहीं रहेंगे. केंद्र और राज्य दोनों जगह परिवर्तन होगा.

क्या शरद पवार गठबंधन का नेतृत्व करेंगे, इस सवाल पर उन्होंने कहा कि सभी दलों को साथ लेकर मैं एक मंच पर लाने की कोशिश करूंगा. उन्होंने कहा कि सभी को साथ लेकर कोई भी सरकार बना सकता है. हर राज्य में हम स्टेट लेवर पर गठबंधन करने की कोशिश करेंगे. जो चुनकर आएगा, फिर उनके साथ केंद्र के बारे में सोचेंगे.

चिदंबरम के राहुल गांधी को पीएम के तौर पर नहीं प्रोजेक्ट करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि ये फैक्ट है. कांग्रेस किसी एक व्यक्ति को पीएम बनाने पर जोर नहीं दे रही. कांग्रेस बस परिवर्तन चाहती है. राहुल गांधी पर उन्होंने कहा कि आज देश की जो राजनीतिक स्थिति है, उसमें किसी के खिलाफ किसी को प्रोजेक्ट कर चुनाव जीतने की स्थिति नहीं है.

कांग्रेस कमजोर कड़ी है, इस सवाल पर उन्होंने कहा ऐसा मुझे नहीं लगता. हर राज्य में हम गठबंधन की कोशिश करेंगे. उसमें कांग्रेस की भी जरूरत होगी. कांग्रेस का रोल हर राज्य में होगा. उसे नजरअंदाज नहीं कर सकते.

उन्होंने कहा कि यूपी में बीजेपी को हराने के लिए सपा और बसपा मिलकर लड़ेंगे. इसके रिजल्ट अच्छे आएंगे. मैं सभी राज्यों में गठबंधन चाहता हूं. लेकिन आम चुनाव में गठबंधन नहीं हो सकता, क्योंकि हर राज्य में गठबंधन की स्थिति अलग है.