2020 तक करेगा चीन को रोशन. कृत्रिम चंद्रमा’ लांच करने की तैयारी में जुटा चीन

चीन का एक शहर कृत्रिम चंद्रमा लांच करने की तैयारी में है। यह कृत्रिम उपग्रह धरती पर करीब 80 किलोमीटर के दायरे को रोशन करेगा। खास बात यह कि यह कृत्रिम चंद्रमा वास्तविक चंद्रमा की अपेक्षा आठ गुना अधिक चमकीला होगा। अभी तक प्रकाशक उपग्रह के रूप में प्रचारित किए जा रहे इस उपग्रह को चेंगदू शहर के दक्षिण पश्चिम इलाके के ऊपर 2020 तक स्थापित किया जाएगा।

अधिकारियों ने इस प्रोजेक्ट से जुड़ी कुछ ही जानकारियों को साझा किया है। यह विचार एक फ्रांसीसी कलाकार की कल्पना से प्रेरित है, जिसमें उसने धरती को चारों ओर से दर्पणों की माला से घेरने की बात कही थी। चेंगदू एयरोस्पेस साइंस एवं टेक्नोलॉजी माइक्रोइलेक्ट्रॉनिक्स सिस्टम रिसर्च इंस्टीट्यूट कंपनी लिमिटेड के चेयरमैन वू चुनफेड ने इस परियोजना का खुलासा किया।

इस कृत्रिम चंद्रमा को परंपरागत स्ट्रीट लाइटों के विकल्प के रूप में देखा जा रहा है। बताया जा रहा है कि प्राकृतिक उपग्रह चंद्रमा के पूरक के रूप में कार्य करने वाले इस कृत्रिम उपग्रह के 2020 में लांच होते ही शहर की रातें और अधिक रोशन हो जाएंगी। कृत्रिम चंद्रमा के प्रकाश को 10 से 80 किमी के दायरे में नियंत्रित भी किया जा सकेगा।

आलोचक हुए प्रखर

चेंगदू शहर की कृत्रिम चंद्रमा से संबंधित परियोजना का विरोध भी शुरू हो गया है। नागरिक इस बात को लेकर चिंतित हैं कि इससे पशु-प्राणियों से लेकर अंतरिक्ष से जुड़ी वेधशालाओं तक पर विपरीत असर पड़ सकता है। लेकिन एक वरिष्ठ वैज्ञानिक कांग वेइमिन के मुताबिक कृत्रिम चंद्रमा की चमक बहुत ज्यादा नहीं होगी।

गौरतलब है कि यह पहली बार नहीं है जब इंसान आकाश में प्रकाश को परावर्तित करने वाले उपकरण लगाने की कोशिश कर रहा है। हालांकि इस दिशा में अभी तक के प्रयास असफल रहे हैं।