किसानों को भ्रमित करने की साज़िश चल रही है – पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि जो कृषि सुधार किये गए हैं ये वही कृषि सुधार हैं जिनकी किसान संगठन और यहां तक की विपक्ष भी कई सालों से मांग कर रहे थे.

मोदी ने कहा कि भारत सरकार हमेशा से किसान कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है.

मोदी गुजरात के कच्छ में डीसेलिनेशन प्लांट और हाइब्रिड रिन्यूएबल एनर्जी पार्क की आधारशिला रखने के कार्यक्रम में पहुंचे थे जहां उनके साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी भी मौजूद थे.

इस मौक़े पर प्रधानमंत्री ने और कई परियोजनाओं का उद्घाटन किया. इस मौक़े पर प्रधानमंत्री ने कृषि सुधार के लिए उठाए गए क़दम पर भी अपनी बात रखी.

मोदी ने कहा कि “हम किसानों को आश्वस्त करना चाहते हैं कि हम हमेशा उनकी चिंताओं को दूर करेंगे. जो लोग विपक्ष में बैठे हैं और आज किसानों को भ्रमित कर रहे हैं, वे अपनी सरकार होने के दौरान इन्हीं कृषि सुधारों का समर्थन करते थे.“

“वे अपनी सरकार होने के दौरान निर्णय नहीं कर सके. आज जब देश ने एक ऐतिहासिक क़दम उठाया है तो ये लोग किसानों को गुमराह कर रहे हैं. किसानों को भ्रमित करने के लिए दिल्ली के आसपास एक साज़िश चल रही है. उन्हें डराया जा रहा है कि नए कृषि सुधारों के बाद किसानों की ज़मीन दूसरों के कब्ज़े में आ जाएगी.“
गुजरात का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि यहां खेती, मत्स्यपालन और डेरी उत्पादन के क्षेत्र में बीते दो दशकों में काफी प्रगति हुई है और इसका कारण सरकार की कम दखलंदाज़ी है.

उन्होंने किसानों के लिए अच्छी योजनाएं लाने के लिए गुजरात सरकार की प्रशंसा की और कहा कि यहां की सरकार ने अपने किसानों और कोऑपरेटिव्स को सशक्त बनाया है.