मेरठ के निजी हॉस्पिटल के आईसीयू में महिला मरीज से गैंगरेप…….

मेरठ के निजी हॉस्पिटल में भर्ती महिला मरीज से गैंगरेप का सनसनीखेज मामला सामने आया है। आरोप है कि नशीला इंजेक्शन देने के बाद तीन कर्मचारियों ने उसके साथ रेप किया। वारदात के बाद आरोपी फरार हो गए। पुलिस जांच में हॉस्पिटल के सीसीटीवी कैमरे बंद पाए गए हैं। पीड़िता ने डॉक्टर, कम्पाउंडर और एक महिला कर्मचारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। मेडिकल जांच में फिलहाल से रेप की पुष्टि नहीं हुई है।

नौचंदी थाना क्षेत्र निवासी 29 वर्षीय महिला लीवर में सूजन की शिकायत के चलते शनिवार को गढ़ रोड स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती हुई थी। महिला का उपचार आईसीयू में चल रहा था और उसका पति हॉस्पिटल में ग्राउंड फ्लोर पर वेटिंग हॉल में बैठा हुआ था। शनिवार देर रात करीब दो बजे महिला ने पति को आईसीयू में बुलाकर रेप होने की जानकारी दी। महिला ने बताया कि हॉस्पिटल की एक महिलाकर्मी ने उसे नशीला इंजेक्शन लगाया था। अर्द्धबेहोशी में एक डॉक्टर और कम्पाउंडर ने उसके साथ रेप किया। महिला ने बताया कि करीब 25 मिनट बाद उसे होश आया तो आरोपी युवक गंदा काम कर रहे थे। पीड़िता ने शोर मचाया तो आरोपी भाग खड़े हुए। पीड़िता ने वारदात का समय रात साढ़े 11 से दो बजे के बीच बताया है।

सौ नंबर की सूचना पर मेडिकल थाना पुलिस पहुंची और जानकारी ली। इसके बाद सीओ और एसडीएम ने भी पहुंचकर छानबीन की। मेडिकल एसओ ने बताया कि पीड़ित महिला ने डॉक्टर, कम्पाउंडर और एक महिला पर केस दर्ज कराया है। उन्होंने बताया कि हॉस्पिटल में रात्रि ड्यूटी पर तैनात एक डॉक्टर और कम्पाउंडर अभी फरार चल रहे हैं, जबकि दो कर्मचारियों को हिरासत में लेकर पूछताछ चल रही है।

मेडिकल जांच में रेप की पुष्टि नहीं

मेडिकल थाना प्रभारी ने बताया कि वारदात के वक्त आईसीयू में इस महिला के अलावा पांच और मरीज भर्ती थे। इन मरीजों के बयान दर्ज किए गए हैं। सभी मरीजों का कहना है कि उन्हें घटना की कोई जानकारी नहीं है। रात महिला ने जब शोर मचाकर पति को बुलाने के लिए कहा तो वे नींद से उठे। थाना प्रभारी ने बताया कि मेडिकल जांच में रेप की पुष्टि नहीं हो पाई है, विस्तृत जांच के लिए स्लाइड लैब भेजी जा रही है।

तांत्रिक के चंगुल में था परिवार, हिरासत में लिया

पुलिस ने पीड़िता के भाई और अन्य परिजनों से भी पूछताछ की। भाई ने बताया कि 10 साल पहले उसके बड़े भाई ने जहर खाकर खुदकुशी कर ली थी। इसके कुछ दिन बाद पत्नी की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई। दूसरी शादी को कुछ साल बाद तलाक हो गया। परिवार में संकट के चलते वह पेपला गांव निवासी एक तांत्रिक के संपर्क में आ गए। भाई ने बताया कि ऊपरी चक्कर बताते हुए तांत्रिक ने इलाज शुरू कर दिया। इस दौरान तांत्रिक ने उसकी बहन को अपने वश में कर लिया। पीड़िता के भाई का कहना है कि यब सब कुछ तांत्रिक का किया हुआ है। फिलहाल पुलिस ने इस तांत्रिक को भी हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।

एसपी बोले- कई बिंदुओं पर जांच

एसपी सिटी डॉ. अखिलेश नारायण सिंह ने बताया कि इस प्रकरण में आईसीयू में भर्ती सभी मरीजों, तीमारदारों और पूरे स्टाफ के बयान दर्ज किए गए हैं। फिलहाल मुकदमा दर्ज कर लिया है। केस की गहनता से छानबीन चल रही है। बताया कि फॉरेंसिक टीम से घटनास्थल की बारीकी से जांच कराई गई। टीम ने उन्हें मौखिक रूप से बताया है कि घटना के संबंध में कोई साक्ष्य नहीं मिले हैं। कई और बिंदू सामने आए हैं, उन पर भी पड़ताल जारी है।