ठंडाई में इस्तेमाल सामग्री के फायदे…………

अनेक त्योहारों के खास व्यंजनों की तरह होली पर भी काफी कुछ खास बनाया जाता है। विशेष तौर पर इस दिन पेय पदार्थ के रूप में ठंडाई जरूर बनाई जाती है। ठंडाई के फायदों के बारे में आपको विस्तार से बता रही हैं प्रीति नेगी

ठंडाई एक स्वादिष्ट और ठंडा पेय पदार्थ है। इसके नाम से ही मुंह में मीठा-सा रस घुलने लगता है और शीतलता महसूस होने लगती है। सोचिए, जब आप इसे बनाने में शामिल सामग्री और इसे पीने के फायदों के बारे में जानेंगे, तो खुद को इसे बनाने से रोक नहीं पाएंगे। अगर आपने ठंडाई कभी नहीं बनाई है तो कोई बात नहीं। इस होली पर यह ठंडा और मीठा पेय पदार्थ जरूर बनाएं।

’बादाम में प्रोटीन, वसा, विटामिन और मिनरल पर्याप्त मात्रा में होते हैं। इसलिए यह स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है।
काजू को ड्राई फ्रूट्स का राजा माना जाता है। काजू खाने के स्वाद के साथ ही सेहत का भी ख्याल रखता है। इसके सेवन से शरीर को ऊर्जा मिलती है।
हल्के हरे रंग का छोटा-सा दिखने वाला पिस्ता प्रोटीन और फाइबर से भरपूर होता है। इसमें कैलरी और फैट अन्य मेवों की तुलना कम होता है।
काली मिर्च, मुनक्का, किशमिश, इलायची, सौंफ और दालचीनी के सेवन से आंतें साफ रहती हैं, कब्ज दूर होती है और कफ में आराम मिलता है।
ठंडाई पीने के फायदे
गर्मियों में इसका सेवन करना काफी फायदेमंद होता है। गर्मी में मुंह सूखने, आंखों और पेशाब में
जलन होने पर इसे जरूर पिएं। यह लू से भी बचाव करती है।
इसमें शामिल खसखस के बीज पेट में होने वाली जलन से राहत देते हैं, वहीं काली मिर्च, सौंफ, इलायची व दालचीनी कब्ज की समस्या को दूर करती हैठंडाई में सौंफ की मात्रा होने से शरीर को ठंडक मिलती है। इससे गैस की समस्या दूर होती है और पाचन-क्रिया में सुधार होता है।