रंगों के त्योहार होली पर रंगों का विशेष महत्व लेकिन ………….

मार्केट में नकली औक केमिकल वाले रंग आपकी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं। नकली और केमिकल वाले रंगों का पहचान करना बहुत आसान है। इन आसान तरीकों से आपक नकली रंग का पता लगा सकते हैं। इसके अलावा आप घर में ही रंग बना सकते हैं। यहां हम आपको बता रहे हैं होली के रंगों को पहचानने का तरीका केमिकल रंगों के दुष्प्रभाव को देखते हुए आजकल लोग ऑर्गेनिक रंगों का चयन कर रहे हैं लेकिन कई बार जिन रंगों के ऊपर इको-फ्रेंडली, नेचुरल या ऑर्गेनिक लेबल लगा देखकर हम खरीद लाते हैं वह असल नहीं होते। झूठे लेबल वाले रंगों के उत्पादों से सावधान रहें। रंग को खरीदते वक्त ध्यान दे कि रंग में से किसी तरह के केमिकल या पेट्रोल की गंध तो नहीं आ रही।रंग खरीदते व्कित आप थोड़ा सा रंग लेकर पानी उसे पानी में घोल कर देखें। यदि रंग पानी में नहीं घुलता तो इसका मतलब है कि उसमें केमिकल मिला है। रंग खरीदते वक्त देखें कि उसमें चमकदार कण तो नहीं है क्योंकि नेचुरल रंग में चमक नहीं होती साथ ही यह डार्क षेड में नहीं मिलते।आप घर में ही आसानी से नेचुरल रंग बना सकते हैं। इसके लिए बेसन और हल्दी को मिलाकर पीला रंग तैयार कर सकते हैं। यह आपकी स्किन के लिए भी अच्छा होगा।