इस्लामाबाद में भारतीय अधिकारियों से बुरा बर्ताव

पाकिस्तान की इमरान खान सरकार भले ही भारत से अच्छे रिश्ते रखने की वकालत कर रही हो, लेकिन उसका रवैया नहीं बदल रहा है. अब इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों के साथ बुरा बर्ताव किया गया है. अधिकारियों के रहने के लिए बनाए गए नए कैंपस में न तो गैस कनेक्शन है और न ही अधिकारियों को इंटरनेट की सुविधा मिल पा रही है. अपने अधिकारियों के साथ पड़ोसी मुल्क में हो रहे इस बर्ताव पर भारत ने विरोध जताया है. बीते गुरुवार को भारत ने पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय में शिकायत दर्ज कराई है.

बता दें, पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों के रहने के लिए नया कैंपस बनाया गया है. इस कैंपस में अधिकारियों को बुनियादी सुविधाएं नहीं दी गई हैं. अधिकारियों के घरों में गैस कनेक्शन नहीं दिए गए है. अधिकारियों के अतिथियों से सवाल पूछे जा रहे हैं. इसके अलावा उच्चायोग के कार्यक्रम के दौरान लाईट काट दी गई थी और कई बार फोन लाइन को भी काट दिया जा रहा है.

उच्चायोग के अधिकारियों के साथ पाकिस्तान का बुरा बर्ताव यहीं नहीं रूका. एक अधिकारी के घर पर तोड़फोड़ भी की गई और उनके घर में जबरदस्ती घुसने की कोशिश की गई. इसके साथ ही भारतीय उच्चायोग के वेबसाइट और इंटरनेट को भी ब्लॉक या स्लो कर दिया जा रहा है, ताकि वीजा के लिए अप्लाई कर रहे पाकिस्तानियों को दिक्कत हो और वह प्रॉक्सी सर्वर का इस्तेमाल करें.

इससे पहले भी पाकिस्तान में भारतीय अधिकारियों के साथ बुरा बर्ताव किए जाने की शिकायत आती रही है. इसी साल के 15 मार्च को विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा था कि हम चाहते हैं इस्लामाबाद में मौजूद भारतीय हाई कमीशन अच्छे से काम करे. हमारे राजनयिकों को वहां प्रताड़ित न किया जाए और विएना कन्वेंशन 1961 के तहत तय किए गए प्रावधानों का पालन नहीं किया जाए, ताकि भारतीय राजनयिक पाकिस्तान में काम कर सकें