लोकतांत्रिक मजबूरी में पकड़ा कांग्रेस का हाथ-चंद्रबाबू नायडू

आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि लोकतंत्र, संविधान और देश को बचाने के लिए हम सब एक जुट हो रहे हैं. तेलुगू देशम पार्टी (TDP) ने देश की राजनीति में अहम योगदान निभाया है. हमने कांग्रेस का हाथ लोकतांत्रिक मजबूरी के चलते पकड़ा है. 2019 के चुनावों के बाद सभी पार्टियां मिलकर प्रधानमंत्री तय करेंगे. उन्होंने कहा कि मेरी कोई कोशिश नहीं है कि चुनाव से पहले मेरे नाम पर रजामंदी हो क्योंकि मुझे पीएम बनने की चाह नहीं है. मुझे 1996 में पीएम बनने का न्यौता मिला था, लेकिन मैंने मना कर दिया था.

इंडिया टुडे कॉन्क्लेव साउथ 2018 में आंध्रप्रदेश के सीएम नायडू ने कहा कि मोदी और एनडीए की सरकार से पूरा देश परेशान है. देश के किसान परेशान हैं, कारोबारी परेशान हैं और आम आदमी परेशान है. आखिर क्या जरूरत थी कि देश में नोटबंदी जैसा कदम उठाया गया. मैं जब एनडीए का हिस्सा था, तब भी मैंने नोटबंदी का विरोध किया था और आज अलग होने के बाद भी विरोध कर रहा हूं. मैं नरेंद्र मोदी का विरोधी नहीं हूं. लेकिन उनकी नीतियां सही नहीं है. गोधरा दंगे के दौरान भी मैंने गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी का विरोध किया था.

पिछली सभी सरकारों से बेकार मोदी सरकार

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश को मायूस किया है. मेरा मानना है कि बिना विकास किए हम आगे नहीं बढ़ सकते. मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के चुनाव परिणाम बताते हैं कि मौजूदा समय में मोदी और एनडीए से लोगों का भरोसा उठ चुका है. उन्होंने कहा कि अब देश के लोगों का फोन टैप किया जा रहा है. पूरा देश खतरे में है. देश की 10 एजेंसियां टैपिंग में लगी हैं. हमारी निजता खत्म हो चुकी है. मोदी सरकार, पिछली सभी सरकारों से बेकार सरकार है.