ऑस्ट्रेलिया में ऋषभ पंत का जलवा, किरमानी-धोनी-साहा छूटे पीछे…

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ युवा विकेटों पर-बल्लेबाज ऋषभ पंत काफी शानदार परफॉर्म कर रहे हैं। एडिलेड टेस्ट में में विकेट के पीछे सबसे ज्यादा शिकार करने का रिकॉर्ड बनाने वाले ऋषभ पंत का ऑस्ट्रेलिया में विकेटों के पीछे बढ़िया समय चल रहा है। मोहम्मद शमी की गेंद पर शॉन मार्श का कैच पकड़ने के बाद ऋषभ पंत ने महेंद्र सिंह धोनी, सैयद किरमानी, ऋद्धिमान साहा को पीछे छोड़ दिया है।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक सीरीज में सबसे ज्यादा खिलाड़ियों को विकेट के पीछे आउट करने के मामले में ऋषभ पंत ने इन तीनों दिग्गजों को पछाड़ दिया है। इससे पहला रिकॉर्ड सैयद किरमानी, 1979 (14 शिकार- 11 कैच, 3 स्टंपिंग), महेंद्र सिंह धोनी, 2013-14 (9 कैच, 5 स्टंपिंग) और ऋद्धिमान साहा, 2017 (13 कैच, 1 स्टंपिंग) का था।

वहीं, ऋषभ पंत ऑस्ट्रेलिया में विकेट के पीछे अबतक 15 शिकार कर लिए हैं। पंत ने यह सभी 15 शिकार कैच से किए हैं, जिनमें से 11 पहले टेस्ट मैच के हैं। पंत ने साहा के 13 कैच के रिकॉर्ड को भीतोड़ दिया है। पंत ने एडिलेड टेस्ट के पांचवे दिन मिचेल स्टार्क का कैच लपकर सबसे ज्यादा 11 कैच का रिकॉर्ड बनाया था।

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ने विराट कोहली को बताया सचिन-लारा-पोंटिंग से बेहतर
इससे पहले, ऋषभ पंत पहले ऐसे भारतीय विकेटकीपर बन गए हैं, जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक टेस्ट पारी में 6 कैच लपके हैं। पर्थ टेस्ट की पहली पारी में ऋषभ पंत ने बल्ले से भी अपना योगदान दिया। दूसरे टेस्ट की पहली पारी में उन्होंने उपयोगी 36 रन की पारी खेली। ऑस्ट्रेलिया की टीम पहली पारी में 326 रन बनाकर आउट हुई थी। ऋषभ पंत की विकेटकीपिंग को लेकर काफी आलोचना हो रही थी, लेकिन ऑस्ट्रेलिया में एक बाद एक रिकॉर्ड तोड़कर आलोचकों का मुंह बंद कर दिया है।

ऋषभ पंत ने कामयाबी का श्रेय धोनी को दिया
ऋषभ पंत ने महेंद्र सिंह धोनी को ‘देश का हीरो’ करार दिया है और इसके साथ ही कहा कि पूर्व कप्तान ने उन्हें धैर्य रखने और दबाव की परिस्थितियों को झेलना सिखाया। एडिलेड टेस्ट में रिकॉर्ड बनाने के बाद पंत ने कहा था, ‘वह (धोनी) देश के हीरो हैं। मैंने एक इंसान और एक क्रिकेटर के रूप में उनसे काफी कुछ सीखा है।’

पंत ने आगे कहा था, ‘जब भी वह आसपास होते हैं तो मैं एक व्यक्ति के तौर पर खुद को आत्मविश्वास से भरा पाता हूं। अगर मुझे कोई भी परेशानी होती है तो उसे मैं उनसे साझा करता हूं और वह तुरंत ही उसका समाधान बता देते हैं।’ उन्होंने आगे कहा, ‘विकेटकीपर और खिलाड़ी के रूप में उन्होंने मुझे यहां (ऐडिलेड) जैसी दबाव की परिस्थितियों में धीरज बनाए रखना सिखाया। आपको शांत रहकर अपना 100 फीसदी देना होता है।’

विराट कोहली का 25वां टेस्ट शतक
पर्थ टेस्ट में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली पहली पारी में अपना 25वां टेस्ट शतक बनाया। कोहली ने 127 पारियों में, सचिन ने 130 में और सुनील गावस्कर ने 138 पारियों में 25वां शतक पूरा किया था। विराट दुनिया के पहले ऐसे एशियाई बल्लेबाज हैं, जिन्होंने कैलेंडर ईयर में दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया के खिलाफ शतक बनाए। विराट कोहली सबसे ज्यादा शतकों के मामले में दूसरे नंबर पर हैं, कोहली के 34 शतक हैं जबकि रिकी पोन्टिंग के 41।