शेयर बाजार में फिर तेज गिरावट, सेंसेक्स 200 से ज्यादा अंक लुढ़का

कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों के चलते सेंसेक्स सोमवार को शुरुआती कारोबार में 150 अंक से अधिक गिरा। रुपये की गिरावट ने भी निवेशकों के रुख को प्रभावित किया। सुबह 9.40 बजे बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक शुरुआती कारोबार में 220.93 अंक लुढ़क कर 36,084.09 अंक पर आ गया। इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी शुरुआती दौर में 83.35 अंक गिरकर 10,884.05 अंक पर रहा।

कुल मिलाकर पिछले पांच कारोबारी सत्रों में सूचकांक 1,785.62 अंक टूटा चुका है। इससे निवेशकों को 8.48 लाख करोड़ रुपये के बाजार पूंजीकरण का नुकसान हुआ है।

फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, फिलहाल कीमतों में राहत के आसार नहीं

दूसरी ओर वैश्विक स्तर पर अमेरिकी मुद्रा में मजबूती से रुपया आज शुरुआती कारोबार में डॉलर के मुकाबले 31 पैसे लुढ़क कर 72.89 रुपये प्रति डॉलर पर रह गया। मुद्रा डीलरों का कहना है कि चीन और अमेरिका के बीच व्यापार मुद्दे पर चल रही बातचीत रद्द होने की खबरों से अन्य प्रमुख विदेशी मुद्राओं के मुकाबले डॉलर में मजबूती रही। इसका असर रुपये पर भी देखने को मिला।

इससे पहले सोमवार को शेयर बाजार में गिरावट का सिलसिला पांचवें दिन भी जारी रहा। बैंक और वाहन कंपनियों के शेयरों में भारी गिरावट के बीच बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स सोमवार को 537 अंक टूट गया। पिछले सात महीने में किसी एक दिन में यह सबसे बड़ी गिरावट है। नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी 11,000 अंक के नीचे उतर गया।

तीस शेयरों वाला सेंसेक्स सोमवार को 536.58 अंक या 1.46 प्रतिशत की गिरावट के साथ ढाई महीने के न्यूनतम स्तर 36,305.02 अंक पर पहुंच गया। सोमवार की गिरावट छह फरवरी के बाद एक दिन की सबसे बड़ी गिरावट है। उस दिन इसमें 561.22 अंक की गिरावट आयी थी। सेंसेक्स का 11 जुलाई के बाद यह न्यूनतम स्तर है। उस दिन यह 36,265.93 अंक पर बंद हुआ।