वसुंधरा राजे बोलीं, सरकार के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर नहीं, बीजेपी फिर से बनाएगी सरकार

राजस्थान विधानसभा चुनाव (Rajasthan Election 2018) के लिए राज्य में 7 दिसंबर को मतदान होने हैं।राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje) का कहना है कि सरकार के खिलाफ किसी भी तरह की कोई सत्ता विरोधी लहर नहीं है और राजस्थान सरकार द्वारा राज्य में पिछले पांच सालों में किए गए कार्यों के आधार पर बीजेपी एक बार फिर से सरकार बनाएगी। राजस्थान सीएम वसुंधरा राजे से बात की हमारे सहयोगी  अंग्रेजी अखबार हिन्दुस्तान टाइम्स की उर्वशी देव रावल ने। पढ़ें इंटरव्यू के संपादित अंश:

सवाल: आपके आलोचक आप पर सवाल उठाते हैं कि सरकार चलाने के दौरान आपकी जनता तक पहुंच नहीं थी? इसपर आप क्या सोचती हैं?

जवाब: आप तथ्यों को क्यों नहीं देखती हैं। मैंने इस दौरान चार यात्राएं और असंख्या अन्य दौरे किए। हमने चुनाव के बाद सरकार आपके द्वारा से शुरुआत की। इसके बाद आपकी जिका, आपकी सरकार और फिर जनसंवाद जैसे यात्राएं कीं। इसके बाद पूरे राज्य में राजस्थान गौरव यात्रा की। लोगों से मिलने के अलावा, मैंने काम करने में समय बिताया। एक महिला को बदनाम करना आसान है। हर चुनाव में आप ऐसी बातें सुनते हैं।

सवाल: आप कहती हैं कि बीजेपी सरकार ने पांच सालों तक कड़ी मेहनत से काम किया। वहीं, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी कहते हैं कि आपने काफी काम किया लेकिन अपनी उपलब्धियों की मार्केटिंग करने में नाकामयाब रहीं। क्या आप इससे सहमत हैं?

जवाब: नहीं, मैं ऐसा नहीं सोचती हूं। मुझे लगता है कि मैंने काम करने में अधिक समय बिताया। मैं नहीं सोचती हूं कि आप सभी से बात करने के लिए पर्याप्त समय था। या तो मैं वैसा करती या फिर काम करती।

सवाल: बीजेपी इस बार लाभार्थियों को वोट बैंक के रूप में देख रही है?

जवाब: यह पहली बार है जब वास्तव में लोगों को फायदा हुआ है। पिछले पांच सालों में लोगों के विकास के लिए हमने कड़ी मेहनत की है। लोग समर्थन करेंगे। हमारी संस्कृति में हमें कुछ चीजें सिखाई गईं हैं जैसे- बुजुर्गों का सम्मान, प्रार्थना करना, किताबों और ज्ञान का सम्मान आदि। लोगों के लिए काम करना भी संस्कार है। हम लोगों का फायदा नहीं कर रहे हैं। यह उनका अधिकार है।

सवाल: क्या आप सोचती हैं कि यह चुनाव बीजेपी बनाम जनता है?

जवाब: आप आखिर यह कैसे कह सकती हैं? बिल्कुल भी नहीं। यह चुनाव हमारे द्वारा किए गए कार्यों के आधार पर लोगों के लिए बीजेपी का चुनाव है। जनता के बनाम वाले चुनाव पहली सरकार में होते थे, जब उन्होंने जनता के लिए कुछ नहीं किया था।

सवाल: आपने कईयों के टिकट बदले हैं। क्या यह एंटी इनकमबेंसी की वजह से ऐसा हुआ?

जवाब: हमनें कार्यकर्ताओं के फीडबैक, तकनीक और सर्वे की मदद ली और उसी हिसाब से टिकटों का बंटवारा किया। राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के नेतृत्व में 15 लोगों की कमेटी बनाई गई थी। हमने कड़ी मेहनत की।

सवाल: झालरापाटन से आपके खिलाफ मानवेंद्र सिंह चुनाव लड़ रहे हैं। इसे कैसे देखती हैं?

जवाब: लोग ऐसे को चाहते हैं जो वहां रुके। किसी को बाड़मेर से हाडोती भेजना, यहां तक कि लोग भी जानते हैं कि वो यहां नहीं रुकेंगे।

सवाल: इन चुनाव को 2019 के सेमीफाइनल की तरह देखा जा रहा है। क्या आप इससे सहमत हैं?

जवाब: इन सभी वर्षों में ये चुनाव दिसम्बर में हुए थे। किसी ने इससे पहले यह सवाल पूछा नहीं। यह मीडिया है जो इस मुद्दे को बढ़ा रहा है, हम नहीं।