कोहली नहीं इस दिग्गज के फैन हैं आफरीदी, बताया वर्ल्ड कप के लिए ‘एक्स फैक्टर’

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद आफरीदी महेंद्र सिंह धोनी के बहुत बड़े फैन हैं. उन्होंने कहा कि अगले साल 2019 वर्ल्ड कप में भारत के लिए अच्छा मौका है और इसके लिए धोनी को रहना होगा.

इतना ही नहीं आफरीदी ने महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली की कप्तानी की तुलना करते हुए बड़ा बयान दिया है. आफरीदी का मानना है कि बतौर कप्तान कोहली अभी धोनी के आसपास भी नहीं हैं.

आफरीदी ने कहा कि ‘मॉर्डन डे क्रिकेट के महान बल्लेबाजों की बात करें तो विराट का कोई जवाब नहीं है. वह बतौर खिलाड़ी मेरे फेवरेट हैं. वो इस वक्त दुनिया के बेहतरीन बल्लेबाज हैं. लेकिन, कप्तानी की बात करें तो महेंद्र सिंह धोनी उनसे बहुत आगे हैं.’

एक अंग्रेजी चैनल से बातचीत के दौरान आफरीदी ने कहा कि ‘कप्तानी की बात करें तो उन्हें अपने सीनियर खिलाड़ी और पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी से काफी कुछ सीखने की जरूरत है. क्योंकि मेरी नजर में तो धोनी अभी भी बेस्ट कप्तान हैं.’

आफरीदी ने धोनी के भविष्य और संन्यास को लेकर कहा, ‘धोनी ने भारत के लिए जो किया है, वो कोई नहीं कर सकता. किसी के पास हक नहीं है कि उसको बताए कि उसे कब संन्यास लेना है. अगले साल 2019 वर्ल्ड कप में भारत के लिए अच्छा मौका है और इसके लिए धोनी को रहना होगा.’

भारत और पाकिस्तान क्रिकेट संबंधों को लेकर आफरीदी ने कहा, ‘मुझे नहीं समझ आता कि दो सरकारों के बीच क्रिकेट को क्यों पिसना पड़ता है. अगर दोनों देशों के बीच किसी चीज से संबंध बेहतर हो सकते हैं तो वो क्रिकेट ही है. इसको राजनीति से दूर रखना होगा.’

आफरीदी ने कहा, ‘भारत और पाकिस्तान के बीच अगर पांच टेस्ट मैचों की सीरीज खेली जाती है, तो यह एशेज सीरीज को भी लोकप्रियता में मात दे सकती है. दोनों टीमों के बीच एक बार फिर से क्रिकेट बहाल होनी चाहिए.’

भारतीय टीम इस वक्त ऑस्ट्रेलिया दौरे पर है और टी-20 सीरीज में ऑस्ट्रेलिया से 0-1 से पीछे है. आफरीदी ने कहा, ‘कोहली को अपनी कप्तानी में सुधार करना होगा. भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सीरीज बहुत रोमांचक होगी. टीम इंडिया में ऐसे खिलाड़ी मौजूद हैं जो ऑस्ट्रेलिया को उन्हीं के घर में हराने का माद्दा रखते हैं. बस भारत को एकजुट होकर खेलना पड़ेगा.’

आफरीदी ने कहा कि भारत को अगर ऑस्ट्रेलिया में जीतना है तो भारतीय बल्लेबाजों को अच्छा प्रदर्शन करना पड़ेगा. ऑस्ट्रेलिया की पिच पर गेंद बाउंस होती है, लेकिन वो अन्य जगहों की बाउंसी पिच के मुकाबले थोड़ा अलग है. वहां पर रन बनाना आसान है, ऐसे में अगर भारतीय बल्लेबाज अच्छी बल्लेबाजी करते हैं तो उन्हें जीत मिल सकती है.

गौरतलब है कि भारतीय टीम को 3 मैचों की टी-20 सीरीज के बाद 4 टेस्ट और 3 वनडे मैच की सीरीज खेलनी है. 1947 से लेकर अब तक टीम इंडिया ने टेस्ट सीरीज के लिए 11 बार ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया है, लेकिन अभी तक उसे वहां अपनी पहली टेस्ट सीरीज जीत का इंतजार है. स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर जैसे तुरुप के इक्कों के बिना भारत के लिए यह सुनहरा मौका होगा