क्या डायबिटीज के मरीजों को खाना चाहिए गुड़?

डायबिटीज के मरीजों को खान-पान में बहुत परहेज कर चलना पड़ता है. इसमें आपकी डाइट से चीनी बिल्कुल गायब हो जाती है. पर उनको अक्सर यह सलाह दी जाती है कि वे चीनी के विकल्प के तौर पर गुड़ का इस्तेमाल करें लेकिन क्या गुड़ खाना वाकई अच्छा होता है.
एक्सपर्ट्स के मुताबिक, डायबिटीज में जिसी भी चीज से इन्सुलिन बढ़ता है वह खराब है, चाहे वह गुड़ ही क्यों ना हो. गुड़ केवल सफेद चीनी के मुकाबले ज्यादा बेहतर है.आइए जानते हैं गुड़ डायबिटीज के मरीजों के लिए क्यों अच्छा नहीं है.
– चीनी और गुड़ का मूल स्रोत एक ही है गन्ना. इसका मतलब यह है कि चीनी और गुड़ दोनों में ही ग्‍लाइसेमिक इंडेक्‍स ज्यादा होता है. डायबिटीज के मरीजों को अपनी डाइट में किसी भी चीज को शामिल करने से पहले ग्‍लाइसेमिक इंडेक्‍सजरूर चेक कर लेना चाहिए.
– गुड़ में भी भरपूर मात्रा में शुगर होती है. गुड़ पोषक तत्वों से भरपूर जरूर है लेकिन इसमें सुक्रोज की मात्रा भी होती है. यही वजह है कि डायबिटीज के मरीजों को गुड़ भी नहीं खाना चाहिए.
– डायबिटीज के अधिकतर मरीजों को यह गलतफहमी होती है कि चीनी के बजाए गुड़ का सेवन सुरक्षित है लेकिन यह सच नहीं है. गुड़ उन लोगों के लिए चीनी का विकल्प हो सकता है जिन्हें डायबिटीज नहीं है.
– आयुर्वेद में भी डायबिटीज के मरीजों को गुड़ खाने की मनाही है. आयुर्वेद में फेफड़ों के संक्रमण, माइग्रेन और अस्थमा के इलाज में गुड़ सेवन करने के लिए कहा गया है.