खतरनाक लेवल पर प्रदूषण, दिवाली से पहले धुआं-धुआं दिल्ली,

दिवाली के त्योहार से पहले एक बार फिर जानलेवा धुंध ने राजधानी दिल्ली को अपनी चपेट में ले लिया है. दिल्ली में बदलते मौसम के साथ-साथ धुंध का कहर भी बढ़ता जा रहा है. दिल्ली-एनसीआर के इलाके में हवा की क्वालिटी लगातार गिरती जा रही है, जिससे सांस लेना मुश्किल हो रहा है. सोमवार को भी सामने आए ताजा आंकड़ों से तस्वीर साफ नहीं होती दिख रही है.

सोमवार को एयर क्वालिटी इंडेक्स के मुताबिक मंदिर मार्ग पर 707, मेजर ध्यानचंद स्टेडियम के पास 676, जवाहरलाल नेहरु स्टेडियम पर 681 अंकों के आसपास रहा. साथ ही दिल्ली में PM 2.5 और PM 10 ‘Poor’ कैटेगरी में हैं.

एक तरफ दिल्ली में जानलेवा धुंध फैली हुई है, तो वहीं राजधानी के जंगपुरा इलाके में रविवार देर रात आग लग गई. यहां गार्बेज डंप में आग लगी, जिसके बाद काफी देर तक आग की लपटें उठती रहीं और धुआं-धुआं हो गया.

बता दें कि धुंध अलावा सोमवार को दिल्ली के तापमान में भी कमी आई. सोमवार सुबह दिल्ली समेत उत्तर भारत में कोहरा छाया रहा. दिवाली का त्योहार आने से पहले ही दिल्ली का ऐसा बुरा हाल है, साफ है कि आने वाले कुछ दिनों में ये मुश्किलें और भी बढ़ सकती हैं.

सोमवार सुबह 8.30 बजे तक राजधानी का तापमान 14.8 डिग्री तक गिर गया है. राजधानी के सफदरजंग इलाके में विजिबिलटी 500-600 मीटर तक है. प्रदूषण के कारण ही धुआं और कोहरा मिक्स हो गया है, यही कारण है कि विजिबिलटी पर फर्क पड़ रहा है.

इसी को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने दिवाली पर कुछ गाइडलाइन्स भी जारी की हैं. सुप्रीम कोर्ट ने गाइडलाइन जारी की है कि इस साल दिवाली के मौके पर सिर्फ ग्रीन क्रैकर्स ही जलाए जाएं, वह भी रात के 8:00 बजे से 10:00 बजे तक. दिल्ली में किसी भी तरह के कंस्ट्रक्शन पर फिलहाल पूरी तरह से रोक लगा दी गई है ताकि एयर पॉल्यूशन को कंट्रोल किया जा सके.