लालू के बेटे तेज प्रताप की 5 महीने पहले ही हुई थी शादी, अब पत्नी ऐश्वर्या से मांगा तलाक,

राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव की शादी को अभी पांच महीने भी नहीं हुए हैं, और यह टूट के मुहाने पर पहुंच गई है। उन्होंने अपनी पत्नी ऐश्वर्या से तलाक लेने के लिए पटना सिविल कोर्ट में याचिका दायर की है। याचिका में उन्होंने कहा है कि वह ऐश्वर्या के साथ रहना नहीं चाहते हैं।

जानकारी के मुताबिक तेज प्रताप यादव ने 13 (1) (1a) हिंदू मैरिज एक्ट के तहत तलाक के लिए अर्जी दे दी है। वहीं खबर के मुताबिक लालू प्रसाद यादव इस मामले को सुलझाने में जुट गए हैं। लालू नहीं चाहते कि यह रिश्ता टूटे। उन्होंने इसके लिए सभी प्रयास करने शुरू कर दिए हैं।

राजनीति में आने की थी खबर
दो महीने पहले तक बिहार से ऐसी खबरें आ रहीं थीं कि तेज प्रताप यादव की पतनी ऐश्वर्या राय सियासत में इंट्री करने जा रही हैं। कहा जा रहा था कि वे अगले लोकसभा चुनाव में छपरा संसदीय सीट से राजद प्रत्याशी होंगी। लेकिन, नियमानुसार ऐसा नहीं हो सकता। कारण है ऐश्वर्या की उम्र। अगले लोकसभा चुनाव तक ऐश्वर्या की उम्र 25 साल नहीं होगी।

छपरा से चुनाव लड़ने की थी चर्चा
तेज प्रताप यादव से शादी के बाद से ही ऐश्वर्या राय के छपरा संसदीय सीट से चुनाव लड़ने की चर्चा थी। राजद के स्थापना दिवस के मौके पर पोस्टरों में लालू परिवार के साथ ऐश्वर्या के दिखने से भी उनकी राजनीति में इंट्री से संभावनाओं को बल मिला था।

अभी उम्र नहीं है
लोकसभा या विधानसभा चुनाव लडऩे के लिए कम से कम 25 साल का होना जरूरी है। मैट्रिक सर्टिफिकेट के मुताबिक ऐश्वर्या की जन्म तिथि 10 फरवरी 1995 है। ऐसे में वह 2020 के पहले चुनाव नहीं लड़ सकती हैं।

चुनाव आयोग प्रमाणिक मानता वोटर लिस्ट की उम्र 
हालांकि, राजनीति के जानकार इसका एक तोड़ भी बताते हैं। उनके अनुसार चुनाव आयोग वोटर लिस्ट की उम्र को ही प्रमाणित मानता है। इसका उदाहरण विधानसभा चुनाव में सामने आ चुका है, जब स्कूल सर्टिफिकेट के हिसाब से तेजस्वी यादव की उम्र चुनाव लड़ने के लायक नहीं थी तो वोटर लिस्ट की उम्र को आधार बनाकर नामांकन किया गया था।

परिवार के मसले को सुलझाएंगे लालू यादव
बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव को जैसे ही इस बात का पता चला कि उनका बड़ा बेटा अपनी पत्नी ऐश्वर्या को तलाक देने जा रहा है, उन्होंने तुरंत उन्हें मिलने बुलाया है। दूसरी ओर सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक भाई-भाभी के बीच कलह की जानकारी मिलते ही छोटे भाई तेजस्वी यादव जो नालंदा जिले में जनसपंर्क अभियान चला रहे थे, तुरंत घर पहुंचे और मामले को शांत करवाने की कोशिश की।

हालांकि तब तक तेज प्रताप तलाक लेने के लिए अर्जी दायर कर चुके थे। तेजस्वी और लालू प्रसाद यादव को इस बात की चिंता है कि इस तरह की घटना से परिवार का नाम खराब होगा। इसलिए अब देखना होगा कि क्या तेज अपने पिता लालू की बात सुनेंगे।